5 Amazing Facts About Maharana Pratap Maharana Pratap ki Kahani in Hindi

0
118
Maharana Pratap ki Kahani in Hindi
Maharana Pratap ki Kahani in Hindi

Maharana Pratap ki Kahani in Hindi यदि हम बात करें महाराणा प्रताप की तो महाराणा प्रताप एक ऐसी शख्सियत हैं भारतीय इतिहास में जिन की वीरता की बात हमेशा चलती है वह नाम महाराणा प्रताप का है महाराणा प्रताप कैसे शख्स थे जिन्होंने न सिर्फ मेवाड़ में ही अपना नाम का परचम लहराया था बल्कि पूरे विश्व भर में उनको उनकी वीरता के लिए जानते थे महाराणा प्रताप के जीवन से जुड़ी कुछ ऐसी बातें हैं जिनके बारे में बहुत कम ही लोग जानते हैं

आप लोगों को बताएंगे कि महाराणा प्रताप के जीवन से जुड़ी बातें हैं जिसके बारे में आप लोग नहीं जानते महाराणा प्रताप कौन थे उनका जन्म कब हुआ था और उनका व्यक्तिव किस प्रकार का था ।

Who was Maharana Pratap ? ( महाराणा प्रताप कौन थे।)


Maharana Pratap ki Kahani in Hindi : यदि हम बात करें महाराणा प्रताप की तो माराणापरताब महाराज राणा उदय सिंह और जयवंता बाई के पुत्र थे और महाराणा प्रताप का जन्म 9 मई 1540 को हुआ था वर्ण प्रताप के जीवन से जुड़ी ऐसी बातें हैं जिनके बारे में नहीं जानते बात यह है कि महाराणा प्रताप के और भी भेजो रहते थे और महाराणा प्रताप की मृत्यु 29 जनवरी 1597 में हुई और उनके पुत्र थे अमर सिंह राणा प्रताप के घोड़े का नाम चेतक था और चेतक नीले रंग का घोड़ा था और वह महाराणा प्रताप के साथ में बहुत बेहतरीन तरह के रिश्ते को रखने वाला था चेतक महाराणा प्रताप की बातें समझता था

Maharana Pratap ki Kahani in Hindi : जितना कि कोई इंसान भी नहीं समझता और महाराणा प्रताप के घोड़े चेतक की मृत्यु हल्दीघाटी के युद्ध के दौरान हुई थी जब चेतक ने महाराणा प्रताप की जान बचाने के लिए 22 फीट चौड़ी नदी को पलंग दिया था और वह घायल हो गया था और उसी के पश्चात महाराणा प्रताप भी चेतक की मृत्यु के बाद हताश से हो गए थे।

5 Amazing Facts About Maharana Pratap

Maharana Pratap ki Kahani in Hindi : यदि हम महाराणा प्रताप से जुड़ी कुछ दिलचस्प तथ्यों की तो महाराणा प्रताप से जुड़े कुछ दिलचस्प तथ्य यह है कि महाराणा प्रताप मेवाड़ के सबसे प्रतिभावान राजाओं में से एक थे और ऐसा कहा जाता है कि महाराणा प्रताप के और भी भाई थे जिनका नाम सागर सिंह और शक्ति सिंह था ।

महाराणा प्रताप से जुड़े कुछ दिलचस्प बताते हैं कि

1)Maharana Pratap ki Kahani in Hindi: यदि हम बात करें महाराणा प्रताप के बचपन के नाम की तो महाराणा प्रताप के बचपन का नाम की का था उनको बचपन में की का नाम से पुकारा जाता था और यदि हम बात करें महाराणा प्रताप के पूरे नाम की तो महाराणा प्रताप का पूरा नाम था महाराणा प्रताप सिंह सिसोदिया।

2) Maharana Pratap ki Kahani in Hindi: महाराणा प्रताप की कद काठी बहुत अच्छी थी महाराणा प्रताप की यदि हम लंबाई की बात करें तो उनकी लंबाई 7 फीट 5 इंच थी और वह लंबी कद काठी वाले भारत के सबसे मजबूत योद्धाओं में से एक योद्धा माने जाते थे।

3)Maharana Pratap ki Kahani in Hindi: ऐसा कहा जाता है कि महाराणा प्रताप के भाले का वजन नहीं बहुत था यदि हम बात करें कि लो मैं तो महाराणा प्रताप के भाले का वजन 80 किलो था और उनकी दो तलवार जो कि 208 किलोग्राम वजनी थी उस उनका कवच भी लगभग 72 किलो भारी था।

4) Maharana Pratap ki Kahani in Hindi: महाराणा प्रताप ने जब हल्दीघाटी की लड़ाई की तो उसमें मुगल सेना तकरीबन 80000 की थी और महाराणा प्रताप सिर्फ 22000 सैनिकों के साथ लड़ रहे थे और वह बहुत बहादुरी से लड़ रहे थे पर उनकी हार का कारण उनके स्वयं के भाई ही बने उन्होंने विश्वासघात किया और इसी के कारण महाराणा प्रताप युद्ध हार गए पर अंत तक महाराणा प्रताप मेवाड़ के रक्षा के लिए लड़े।

5) Maharana Pratap ki Kahani in Hindi: जैसा कि हम सब जानते हैं कि महाराणा प्रताप की घोड़े का नाम चेतक था जो कि हवा से बातें किया करता था और चेतक घोड़े की सबसे खास बात यह थी कि महाराणा प्रताप ने उसके चेहरे पर हाथी का मुखौटा लगा रखा था ताकि युद्ध मैदान में दुश्मनों के सामने हाथियों को चकमा दिया जा सके।

RELATED ARTICLE

9 Best Kundalini Jagran Karne Ka Aasan Tarika Kya Hai Hindi Me

Final Words For 5 Amazing Facts About Maharana Pratap Maharana Pratap ki Kahani in Hindi

हम आशा करते हैं कि आप लोगों को यह आर्टिकल पसंद आया होगा अपना कीमती वक्त निकालकर इसे पढ़ने के लिए धन्यवाद!

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here