Essay on Justice in Hindi | न्याय का महत्व पर निबन्ध

Essay on Justice in Hindi:- न्याय का महत्व हमारे जीवन में बहुत हैं । देवी देवताओं के समय से ही न्याय का महत्व हैं । आर्थिक और राजनीतिक पक्ष में अनेक परिवर्तन हुए हैं । इनमे से कुछ परिवर्तनो ने समकालीन समाज पर अपना प्रभाव छोड़ा है । न्याय से हमारी जीवन शैली में काफी परिवर्तन हुआ है । महाभारत काल के समय से ही न्याय का नहुत महत्व रहा हैं । न्याय पाने के लिए दो परिवारो के बीच युद्ध हुआ ।

महिलाओ पर जो अत्याचार हो रहे हैं उसको सभी जानते हैं । हर घर में महिलाओ के साथ घरेलू हिंसा हो रही हैं । हर दफतर और हर विभाग में महिलाओ के साथ यौन शोषण हो रहा हैं । अगर न्याय का महत्व नहीं होता तो हर रोज महिलाओं के साथ पता नहीं क्या होता ।

हर दूसरी महिला किसी न किसी आदमी का शिकार होती है। वह घर में दब कर रह जाती है । न वह पढ़ पाती और ना ही अधिकारो के बारे में जान पाती । पूराने जमाने के तरह घूंघट में ही दब कर रह जाती । इसलिए हमारे जीवन में न्याय का बहुत महत्व हैं ।

Read Interesting Article:-

Full Biography of Meera Bai in Hindi

अंधे की लकड़ी होना | Andhe Ki Lakdi Hona Muhavara

अगर हम महिलाओं के लिए कुछ कानून या नियम नहीं बनाए होते तो पुरुष समाज हमे नोच कर खा जाता। एक बार की बात हैं- पंजाब की एक महिला थी । उसने बचपन में ही अपना बहुत कुछ खो दिया था । उसकी आँखों के सामने उसके माँ बाप और एक भाई को दंगा करने वालो ने काट दिया था ।

मार तो उसे भी दिया था लेकिन भगवान ने उसकी सांसे लोटा दी । किसी सिख ने उसे बचा लिया और उसे कहीं दूर ले गया । लेकिन दंगाइयों ने उसका पिछा नहीं छोड़ा । जो उसे बचा कर ले गया था उसे भी मार दिया । वह अकेली रह गई ।

वह खेतो से भागती हुई एक गुरूद्वारे में पहुँच गई । धीरे धीरे वह बड़ी हो गई और उसने सोचा मैं कब तक भागूंगी। क्यो न न्याय की लड़ाई लड़ी जाए। वह न्याय पाने के लिए एक किताब लिखाना शुरू कर देती हैं ।

उसी गुरूद्वारे में एक दिन एक ओफिसर आता हैं और उसे कहता हैं कि मैं इस लड़ाई में तुम्हारा साथ देना चाहता हूँ। मैं तुम्हारे साथ हूँ । वह मान जाती हैं । इसी दौरान वह उससे शादी कर लेती हैं यह 84 के आस पास बीच की बात हैं । उस समय कुछ सिखों के साथ बहुत बुरा हुआ था ।

उसके दो बच्चे एक बेटा और एक बेटी हुए । कुछ समय बीता ही था कि उसके पति और बेटी की हत्या कर दी गई । बहुत दंगे हुए थे लेकिन दंगा करने वाला कोई और नहीं था बल्कि एक नेता था वह दिल्ली का था

लेकिन उसने हिम्मत नहीं हारी न्याय पाने के लड़ाई लड़ती रही उसे विश्वास था कि एक दिन उसे न्याय जरूर मिलेगा । उसके साथ कुछ गलत नहीं होगा उसे इंसाफ जरूर मिलेगा । एक दिन माँ बाप को भी मार दिया था अब वह बच्चे भी अनाथ हो गये थे ।

उस महिला ने उन्हे अपने साथ रख लिया । पढ़ाना शुरू कर दिया उन बच्चो को हमेशा कहती थी की हमे न्याय जरूर मिलेगा हमने हिम्मत नहीं हारनी और न्याय पाने के लिए एक किताब लिखती रही । एक दिन उस नेता ने उसे ही अगवा कर लिया और कहीं दूर जंगल में ले गया लेकिन किस्मत ने फिर बचा लिया ।

और वह वहा से भाग निकली किसी तरह जान बचा कर अपने बेटे के पास पहुँच गई । जब उसे इस लड़ाई में न्याय नहीं मिला तो उसने न्याय पाने का दूसरा तरीका ढूँढ लिया । उसने अपने बेटे को ऐसे ग्रुप में मिला दिया जो अन्याय के खिलाफ लड़ाई लड़ रहे थे उस महिला के बेटे ने उस नेता के खिलाफ सबूत इक्कठे करने शुरू कर दिये । जिसने वह दंगे करवाए थे उसने कुछ सबूत को कोर्ट में पेश किया ।

लेकिन उसने तो पहले ही सबको खरीद लिया था उस नेता के पास पैसा बहुत था लेकिन उसने न्याय पाने की उम्मीद नहीं छोड़ी वह लड़ाई लड़ती रही आखिरकार सच्चाई की जीत हुई उसने जो भी सबूत इक्कठे किए थे उन्हें कोर्ट में पेश किया गया ।

उस नेता को जेल हुई और उस महिला को बाहर निकाला गया जब वह महिला जेल से बाहर आई तब तक उसकी न्याय पाने की किताब भी छप गई थी । कुछ अनाथ बच्चों ने उस किताब को छपवा दिया था अब वह बच्चे बड़े हो गये थे कनाडा में पढ़ाई कर रहे थे न्याय पाने की यह लड़ाई बहुत लम्बी लड़ी थी न्याय का क्या महत्व हैं इस दौरान पता चल गया ।

न्याय का महत्व समझाते हुए जगह जगह पर न्यायलय बनाये गये हैं । हमारे जीवन में न्याय का महत्व नहीं होता तो क्राईम बहुत बढ़ जाता किसी के साथ कुच गलत होताअ है । तो वह न्याय के लिए न्यायलय में गुहार लगाता हैं ।

हरियाणा पंजाब चंडीगढ़ में महिलाओ के साथ अभद्र व्यवहार किया जाता हैं । शारीरिक और यौन हिंसा की शिकार हो रही हैं । भारत में पति परमेश्वर का दर्जा दिया जाता हैं ।

लेकिन ज्यादातर महिलाए अपने पति द्वारा ही प्रताडित होती घरेलू हिंसा का शिकार होती हैं । लेकिन कभी आवाज नहीं उठाटी बस किस्मत का लिखा मान लेती हैं और चुप रहती हैं । लेकिन कुछ महिलाए ऐसी होती हैं की उन पर जो जुल्म हो रहा हैं ।

वह बरदाश्त नहीं करती उनके खिलाफ आवाज उठाती हैं । अपने अधिकार और अपने आत्म समान की रक्षा के लिए न्याय की गुहार लगाती वह न्याय का महत्व समझती हैं और समान भी करती हैं । इसलिए अपने अधिकारो के प्रति अवाज भी उठाती हैं ।

न्यायपालिका ने हमेशा महिलाओ हमेशा महिलाओ को समान दिया हैं उनको उनके अधिकार दिए हैं । इसलिए महिलाओ को उनके क्षेत्र में काम करने का मौका मिल रहा हैं । हर क्षेत्र में पुरुष और महिलाए बराबर चल रहे हैं ।

किसी भी विभाग में महिलाए पीछे नहीं हैं । चाहे पुलिस, फौज हो या फिर विमान उठाने की बात हो । इसलिए न्याय का महत्व हमारे जीवन में बहुत महत्व रखता हैं ।

इस कहानी से हमें यह शिक्षा मिलती हन कि झूठ कितना भी बड़ा हो सच से हमेशा छोटा होता हैं ।

प्र1    न्याय का क्या महत्व हैं ?

ऊ०    न्याय का हमारे जीवन में बहुत महत्व हैं । न्याय के बिना फैसला नहीं होता ।

प्र2    इस कहानी में महिला का बचपन कैसा था ?

ऊ०    इस कहानी में महिला का बचपन दुःखो से भरा हुआ था ।

प्र3    पुराने जमाने में महिलाए कैसे रहती थी ?

ऊ०    पुराने जमाने में महिलाए घूंघट में रहती थी और अशिक्षित थी ।

प्र4    क्या देवी देवताओं के समय न्याय का महत्व था ?

ऊ०    हाँ देवी देवताओं के समय न्याय से ही न्याय का बहुत महत्व रहा हैं ।

प्र5    क्या महिलाऐ घरेलू हिंसा की शिकार हो रही हैं ?

ऊ०    हाँ

प्र6    लेखक इस कहानी के जरिये क्या बताना चाहता हैं ? और क्यो ?

ऊ०    लेखक इस कहानी के जरिये बताना चाहता हैं कि हमने अपने अधिकारो के बारे में और अपने आत्म सम्मान के लिए अपने उपर हो रहे अत्याचार के लिए हमें न्यायालय में गुहार लगानी चाहिए ।

Leave a Comment