2 Best Moral Story in Hindi With Pictures 2022|मोरल स्टोरी इन हिंदी

2 Best Moral Story in Hindi With Pictures 2022 : हम सभी को कहानी पढ़ना बहुत पसंद होता है और कहानी पढ़ने की दिलचस्पी हम सभी के मन में बनी रहती है। आज के इस कहानी संग्रह में हम आप लोगों के लिए दो ऐसी कहानियां लेकर आए हैं जो कि लघु कथाएं हैं और इस moral story के जरिए आप अपने बच्चों के अंदर moral values भी डाल सकते हैं।

2 Best Moral Story in Hindi With Pictures 2022|मोरल स्टोरी इन हिंदी

जी हां हम आप लोगों के लिए दो ऐसी ही दिलचस्प कहानियां लेकर आए हैं जिसके माध्यम से आज आप कुछ सीखेंगे और उन्हीं Moral Story के मध्यम से moral values को आप अपने बच्चों को और अपने आसपास के लोगों को भी सिखा सकते हैं। कहानी पढ़ना किसे पसंद नहीं होता हम आज के इस आधुनिक समय में इतनी तेजी से भाग रहे हैं ।

कि हमें दादा नानी की कहानी कहां नसीब होती है । तो चलिए आपको उस ही दौर में वापस ले चलते हैं और आपके बचपन में वापस ले चलते हैं और आपको भी सुनाते हैं कुछ ऐसी ही दिलचस्प कहानी तो बिना किसी देरी के चलिए पहली कहानी की शुरुआत करते हैं।

2 Best Moral Story in Hindi With Pictures 2022: Nakalchi kaua Hindi Kahani

इस कहानी की शुरुआत होती है एक जंगल से एक बार की बात है एक जंगल में एक मूर्ख कौवा रहता था जी हां वह कौवा इसलिए मूर्ख था क्योंकि उसने अपनी मूर्खता के चलते और नकलची बना दिखाते हुए अपनी जान से ही हाथ धो बैठे और अपनी आजादी खो बैठा ।


एक दिन वह कौवा रोज की तरह हवा में उड़ता हुआ इधर-उधर मस्ती कर रहा था उसी वक्त उसने एक चील को देखा और वह चील उस वक्त एक मैंने का शिकार कर रहे थे वह चील उस वक्त एक मैंने पर हमला कर रही थी। देखते ही देखते उस चील ने उस मैंने को अपने ताकतवर पंजों में दबोच लिया था और वह पलक झपकते ही उस कौवे ने मेमने को उठा ले कर अपने घोसले में ले गई।

2 Best Moral Story in Hindi With Pictures 2022: Nakalchi kaua Hindi Kahani

कौवे को चील को देखकर ताव चढ़ा और वह उस चीज के उस शिकार को देखकर काफी प्रभावित हुआ कोई नहीं सोचा कि क्यों ना मैं भी ऐसा करूं और कौवे को अभिमान आ गया कि जब यह चील कर सकती है तो मैं क्यों नहीं कर सकता। कोई नहीं मूर्खता दिखाते हुए यह नहीं सोचा कि चील में और उसमें दिन रात का अंतर है

पर वही कहते हैं ना कि विनाश काले विपरीत बुद्धि और कौवे के साथ भी वैसा ही हुआ उसने अपना शिकार ढूंढना शुरू किया कौवे ने अपने शिकार को ढूंढते ढूंढते आकाश की ओर से एक मेमने को देखा ।

आकाश में उड़ते उड़ते उसकी नजर जब उस मेमने पर पड़ी तो उसने आव देखा ना उसने तब देखा वह सीधा मैंने की तरफ उड़ने लगा वह मिलने की और बहुत तेजी से जा रहा था और वह आकाश से सीधा उसने भेजा गया उसने मेमने को पंजों से पकड़ने की बहुत कोशिश की परंतु वह मेमना बहुत भारी था उस कौवे से और इसी की वजह से ना तो वह उसे पकड़ पाया ना उसे उठाकर अपने घोंसले में लेकर जा पाया ।

यही नहीं बल्कि उसके बालों में वह को पूरी तरह से फंस गया था इस बात का उसे अंदेशा हो गया था है कि वह मुसीबत में फंस गया है । जैसे ही उसके दिमाग में कुछ और ख्याल आता उससे पहले ही चरवाहे की नजर उस कौवे पर पड़ गई और उस कौवे को उस चरवाहे ने पकड़कर पिंजरे में बंद कर दिया इस तरीके से हम कह सकते हैं कि मूर्ख कोवा चील की नकल करने की वजह से खुद ही जाल में फंस गया और पिंजरे में कैद हो गया।


अब इस कहानी से हमें यह शिक्षा मिलती है कि हमें कभी भी किसी की नकल नहीं करनी चाहिए और उसी के साथ साथ यदि हम किसी से कुछ सीखना चाहे हैं या फिर किसी की किसी कला से हम प्रभावित हैं तो सबसे पहले हमें अपनी क्षमताओं को जांचना चाहिए कि हम यदि कर सकते हैं

तो हमें वह करना चाहिए नहीं तो उससे पहले हमें अपने आप को उस चीज को करने के लिए तैयार करना चाहिए तभी जाकर उस चीज को अंजाम देना चाहिए।

Gareeb Bhakt – Moral Based Stories In Hindi

तो एक बार की बात है एक गांव में एक निर्धन व्यक्ति रहता था वह इतना गरीब था कि उसका जीवन यापन करना भी उसे बहुत मुश्किल होता था । वह कभी सुबह का भोजन कर लेता था तो उसे इस चीज की चिंता सताती थी कि शाम का भोजन किस प्रकार व्यक्त कर पाएगा । यदि शाम का भोजन कर देता था तुम्हें इसी चिंता में रहता था कि यदि कल उसने नहीं कमाया तो वह भोजन कैसे कर पाएगा ।

Gareeb Bhakt - Moral Based Stories In Hindi

वह गांव में बहुत बार काम ढूंढने का प्रयास करता था पर उसकी गुजर-बसर नहीं हो पाती थी किसी भी काम से क्योंकि ना तो वह पढ़ा लिखा था और ना उसे किसी भी प्रकार की कला आती थी । वह बस रोज लकड़ी काट कर लाता और शाम को उसे बेचकर ही अपना जीवन यापन करता था ।


वह देवी मां का बहुत बड़ा भक्त था वह रोज सुबह उठता प्रतिदिन जल्दी उठ कर नहा कर वह भी मां के मंदिर में जाता और अपने मन को पूरी तरह से देवी मां की ओर समर्पित करते हुए वह उनकी बहुत पूजा-अर्चना करता था।


एक बार की बात है देवी मां को उस पर दया आ गई और देवी मां ने उसकी मदद करने का फैसला किया देवी मां ने एक सोने के सिक्कों से भरा हुआ थैला अपने मंदिर के दरवाजे पर अपने दिव्य शक्तियों के द्वारा रख दिया था । उन्होंने सोचा कि जब वह लकड़ी काटने वाला भक्त उनके मंदिर में आएगा तो वह सोने से भरा हुआ वह थैला देखेगा और उसका जीवन बदल जाएगा ।


पर शायद वक्त को कुछ और ही मंजूर था वह भक्त रोज की तरह सुबह जल्दी उठा उसने स्नान किया और वह मंदिर की ओर चल दिया। मंदिर की ओर जाने के बाद उसने मन में ध्यान लगाते हुए आंखें बंद करके अपनी पूजा-अर्चना पूरी की और उसके बाद में वह आंख बंद करके ही परिक्रमा लगाना शुरू कर देने लगा। उसने पूरे मंदिर की परिक्रमा लगाई और वह आंख बंद करके ही मंदिर से बाहर चला गया ।

इसी की वजह से उस व्यक्ति की नजर और सोने की सिक्कों के थैले पर नहीं पढ़े और वह बिना थैले को देखे ही उस मंदिर से चला गया इस पूरे वाख्य को देवी मां ने देखा और देवी मां को यह समझ आ गया था कि वक्त से पहले और किस्मत से ज्यादा किसी को कुछ नहीं मिल सकता और यह चीज उस दिन फिर से सिद्ध हो गई।

तो इस कहानी के साथ हमें यह शिक्षा मिलती है कि हमें वक्त से पहले और किस्मत से ज्यादा कुछ भी नहीं मिल सकता फिर चाहे भगवान ही क्यों ना चाहे जो भी हमारी किस्मत में लिखा जा चुका है उसे हमें यहीं पर ही भुगतना पड़ता है और वह हमारे कर्मों के हिसाब से होता है तो इसीलिए हमें इस चीज का ध्यान देना चाहिए कि हमें अपने कर्मों पर विशेष ध्यान देते हुए

उन्हें सकारात्मक रखते हुए अपने जीवन को आगे बढ़ाना चाहिए और इसी की वजह से हम अपने जीवन में पूरी तरह से सकारात्मक बदलाव ला सकते हैं।

YOU CAN ALSO READ

Bada Balidan kiska Vikram Betal Hindi Kahani : Vikram Betal 1 Interesting Story

FAQ Related To 2 Best Moral Story in Hindi With Pictures 2022| मोरल स्टोरी इन हिंदी

What are the examples of the Moral Values ?( Moral values के examples क्या होते है ?)

यदि हम बात करें शिष्टाचार की या moral values की तो बच्चों में Respect होनी बहुत जरुरी है बड़ों के प्रति ,अपने आस पास के लोगो के प्रति आदर भाव चाहे वो उनसे बड़ा हो या छोटा । होती है सबसे अच्छे से बात करना ,सबका आदर करना , वक्त का सदुउपयोग करना ।

What are the different types of Moral Values ?( Moral values कितने प्रकार की होतीं हैं?)

Moral values तीन प्रकार की होतीं है
1) Character value
2) Work Value
3) Personal Value

What are the important moral values for Students?( Students के लिए जरुरी Moral Values कौनसी है ?)

Students के लिए जरूरी moral values नम्रता, confidence, punctuality, Compassion

What are moral values in Children? ( बच्चों के लिए moral values कौनसी होती है ?)

बच्चों में Respect होनी बहुत जरुरी है बड़ों के प्रति ,अपने आस पास के लोगो के प्रति आदर भाव चाहे वो उनसे बड़ा हो या छोटा ।

How do you teach Children Moral Values?( बच्चों को moral values कैसे सिखाई जा सकती है ?)

सबसे पहले तो आपको इस चीज का ध्यान देना बहुत ज्यादा जरूरी है की आपको उनपर एक साथ कुछ चीज थोपनी नही है । धीरे धीरे उन्हें सीखना आप शुरू कीजिए और एक एक करके उन्हें सिखाइए।

Final Words For 2 Best Moral Story in Hindi With Pictures 2022| मोरल स्टोरी इन हिंदी

इन कहानियों से हमें यह शिक्षा मिलती है कि हमें जीवन में कभी भी मूर्खता नहीं दिखानी चाहिए ना यह लालच में आना चाहिए ना ही किसी को देखकर हमें अपना आपा खोना चाहिए। हमें इसी तरह के नैतिक चीजें भी अपने बच्चों को सिखाने चाहिए और इन चीजों से हमें सीखना भी चाहिए हम आशा करते हैं आप लोगों को है आर्टिकल पसंद आया होगा अपना कीमती वक्त निकालकर इसे पढ़ने के लिए धन्यवाद!

Rate this post

Leave a Comment