5 Important Points of Kar Bhala to ho bhala kahani in Hindi: कर भला तो हो भला की कहानी

Kar Bhala to ho bhala: हम सभी को जीवन में इस बात का एहसास होना बहुत जरूरी है कि जो भी हम करते हैं उसका फल हमें अपने जीवन में भुगतना पड़ता है यदि हम अच्छे कर्म करते हैं तो हमें उसका फल भी अच्छा ही मिलेगा और इसीलिए ही हमने यही सिखाया जाता है कि कर भला तो हो भला और आज के इस निबंध में हम आपको यही बताएंगे एक कहानी के माध्यम से कि कैसे आप इस चीज को समझ सकते हैं कि कर भला तो हो भला कैसे आप यह भी अच्छे कर्म करते हैं तो आपके साथ भी अच्छा ही होता है आज के इस कहानी से हम यही जानेंगे।

5 Important Points on importance of Good Deeds: Kar Bhala to ho bhala kahani in Hindi

What are good Deeds?( अच्छे कर्म क्या है?)

Kar Bhala to ho bhala : सबसे पहले तो हमें यह समझने की आवश्यकता होती है कि अच्छे कर्म या गुड डीड्स होते क्या है यदि हम किसी इंसान के साथ में अच्छा काम करते हैं मतलब उसके मदद करते हैं या फिर उसको किसी भी तरह के बुरे रास्ते पर जाने से रोकते हैं या फिर किसी के काम में आते है ।

Intereseting Aricle:-

1 Best Guru Aur Shishya Ki Hindi Kahani-गुरु और शिष्य प्रेरणादायक हिन्दी कहानी

Bheege Hue Badam Khane Ke Fayde in Hindi-5 Amazing Benefits of Almonds in Hindi

5 Important Points on importance of Good Deeds: Kar Bhala to ho bhala kahani in Hindi

Kar Bhala to ho bhala; कर भला तो हो भला कि हम एक कहानी से इस चीज को आसानी से समझ सकते हैं किसी राज्य में एक रामधन राम के राजा थे। रामधन बहुत ही दयालु थे और प्रजा उनको बहुत ज्यादा पसंद किया करती थी रामधन दूसरों लोगों की मदद करते थे अपनी प्रजा को अपने बच्चों की तरह रखते थे रामधन अपने काम में तो कुशल ते ही अपने युद्ध क्षेत्र में कुशलता ही और रामधन अक्सर अपनी प्रजा के इसलिए भी चाहते थे


Kar Bhala to ho bhala: क्योंकि वह अपने से पहले अपनी प्रजा के बारे में सोचते थे रामधन के एक शत्रु राजा थे जिनका नाम राजा भीम सिंह था उन्होंने अचानक एक बार रामधन के राज्य पर आक्रमण कर दिया और इसी कारणवश रामधन को अपना राज्य छोड़कर भागना पड़ा भटकते भटकते अपने जंगलों में घूम रहे थे।

Kar Bhala to ho bhala: अपना जीवन यापन कर रहे थे और वह प्रतिदिन लकड़ी काटते और उसे बेच कर अपना जीवन यापन करना शुरू कर दिया इसके बाद एक दिन वह लकड़ी काटकर अपने राज्य में बेचने जा रहे थे उसी समय उनको रास्ते में एक वृद्ध पुरुष मिले जो कि रो रहे थे रामधन ने राज्य के उस व्यक्ति से उनके ब्लॉक का कारण पूछा तो उन्होंने बताया कि मेरे पुत्र की अवस्था बहुत ही खराब है और मेरे पास उसके उपचार के लिए पैसे नहीं है उस वक्त में रामधन की प्रजा उनको तब तक भी नहीं बोली थी जब तक भीम सिंह उस राज्य के राजा बन गए थे।

और भीम सिंह के राज्य होने के बावजूद भी प्रजा सिर्फ रामधन की बातें ही करती थी और इसी की वजह से भीम सिंह ने गुस्से में आकर रामधन को बंदी बनाने का आदेश दिया और ऐसा कहा कि जो भी रामधन को पकड़ कर लाएगा उसे सोने की अशर्फियां मिलेगी।


Kar Bhala to ho bhala : राजाराम धन को भी इस बात का ज्ञान था और उन्होंने उस वृद्ध पुरुष की मदद करने की ठानी और उन्होंने उस वृद्ध पुरुष को अपने साथ में ले लिया और वह राजा भीम सिंह के पास पहुंच गए राजा भीम सिंह रामधन को देखकर बहुत खुश हुए और उन्होंने रामधन को देखते ही बंदी बनाने का आदेश दे दिया ।


जब रामधन की कहानी उस वृद्ध पुरुष ने भीम सिंह को सुना ही और उन्होंने भीम सिंह से आग्रह किया कि रामधन अपनी स्वेच्छा से आपके पास इसीलिए बंदी बनने आए हैं क्योंकि मेरे पुत्र की अवस्था खराब थी ताकि मैं इन्हें आपके पास ला सकूं और वह सोने की अशर्फियां से अपने पुत्र का उपचार करवा सकूं इस बात को सुनकर राजा भीम सिंह को भी समझ में आ गया की रामधन सच में एक बहुत ही बेहतर इंसान और बहुत ही अच्छे राजा थे ।

और उन्होंने इस बात को ज्ञात करते हुए रामधन को उनका राज्य वापस कर दिया और उन्हें शमा याचना मांगते हुए उस राज्य से चले गए तो इस कहानी के माध्यम से हम समझ सकते हैं कि यदि हम किसी भी व्यक्ति की मदद करते हैं यदि हम कुछ अच्छा करते हैं तो हमारे साथ भी अच्छा ही होता है।

RELATED ARTICLE

How We Do Earth Reiki Treatment in Hindi: 2 Best Ways

Final Words for 5 Important Points on importance of Good Deeds: Kar Bhala to ho bhala kahani in Hindi

हम आशा करते हैं कि आप लोगों को यह आर्टिकल पसंद आया होगा अपना कीमती वक्त निकालकर इसे पढ़ने के लिए धन्यवाद।

Leave a Comment