50 amazing Life-Changing Stories: Gyan se moksh ki Prapti Gautam Budh Hindi Kahani

Gyan se moksh ki Prapti Gautam Budh Hindi Kahani : आज की इस कहानी संग्रह में हम बात करेंगे आपके साथ में गौतम बुद्ध के द्वारा दी गई एक ऐसी सीख ही जिसके साथ में हम जीवन में आगे बढ़ सकते हैं और हम पता कर सकते हैं कि कैसे हमें मोक्ष की प्राप्ति हो सकती है जी हां बिल्कुल सही सुना आपने इस कहानी के माध्यम से हमें समझा जा सकता है कि किन चीजों से मोक्ष की प्राप्ति होती है Gyan se moksh ki Prapti

Gyan se moksh ki Prapti Gautam Budh Hindi Kahani

और बहुत लोगों का है गलत मानना है कि यदि हम कोई भी कार्य किसी मजबूरी में करते हैं और बिना किसी को दुख पहुंचाने के भाव से करते हैं तो वह पाप नहीं होता और हमारे को गौतम बुद्ध की इस कहानी से काफी कुछ सीखने को मिल सकता है गौतम बुद्ध के व्यक्तित्व के बारे में हम सभी जानते हैं कि वह एक ऐसे व्यक्तित्व वाले व्यक्ति थे Gyan se moksh ki Prapti

जिनकी कहानियां जिनके शिक्षा आज भी बहुत सारे लोगों के लिए प्रेरणादायक होती है और जिसकी वजह से वह अपने जीवन को पूरी तरह से बदल सकते हैं रानी के माध्यम से जानते हैं कि कैसे हम अपने जीवन में मोक्ष की प्राप्ति कर सकते हैं।Gyan se moksh ki Prapti

Gyan se moksh ki Prapti Gautam Budh Hindi Kahani

इस कहानी की शुरुआत होती है कि एक बार की बात है गौतम बुद्ध अपनी कुटिया में बैठकर अपने शिष्यों को उपदेश दे रहे थे उनके शिष्यों ने आग्रह किया कि आज हमें यह बताइए कि जिससे हमें मोक्ष की प्राप्ति हो सकती है इस सवाल पर गौतम बुद्ध को एक कहानी याद आई और उन्होंने उस कहानी की शुरुआत करते हुए अपने शिष्यों को बताया कि एक राज्य की बात है वहां पर एक जल्लाद रहता था Gyan se moksh ki Prapti

जल्लाद ने बहुत सारे लोगों को मृत्युदंड दिया था पर जल्लाद के मन में यह बात परेशान करते हुए जरा भी सांत्वना नहीं रहती जल्लाद मन में परेशान रहता था कि वह कितना बुरा आदमी है जिसने बहुत सारे लोगों को मृत्युदंड दिया है ।
और उनकी जान ली है जल्लाद को अपने मन में यह बात हमेशा सताती रहती कि वह बहुत सारे लोगों की मृत्यु का कारण बना हुआ है जल्लाद जब अपने कार्य से निवृत हुआ तो उसके बाद अपनी कुटिया बनाकर गांव में ही रहने लगा था जल्लाद पास ही के गांव में रहने लगा और उसके मन में यह बात उसे हमेशा खाई जाती थी Gyan se moksh ki Prapti

Gyan se moksh ki Prapti Gautam Budh Hindi Kahani

कि उसने बहुत सारे लोगों को मृत्यु दंड दिया है और वह अच्छा इंसान नहीं है उसे कभी भी मोक्ष की प्राप्ति नहीं हो सकती जल्लाद एक दिन जैसे ही खाना खाने बैठ रहा था उसके दरवाजे से एक आवाज आई एक भिक्षु ने उसे आवाज देते हुए कहा कि बेटा मुझे क्या तुम भोजन करवा सकते हो जल्लाद के मन में तुरंत एक बात आई कि उसने बहुत सारे लोगों की मौत का कारण वह बना है और क्या पता उसका एक अच्छा काम उसके जीवन में कुछ अच्छा कर जाए ।Gyan se moksh ki Prapti


उसने भिक्षु को बुलाया और वह समझ गया था कि वो कोई आम व्यक्ति नहीं थे वह एक तपस्वी थे जिन्होंने तपस्या करने के बाद बहुत सारी सिद्धियां प्राप्त की थी भरपेट भोजन करवाने के बाद भिक्षु को अपने मन की व्यथा सुनाई और उनसे पूछा कि मेरे मन में यह भोज हमेशा रहता है कि हमारे बिना किसी मनके होने के बावजूद हमें ऐसे काम करने पड़ते हैं जिससे हमारे मन पर बोझ रहता है कि हमने बहुत लोगों के साथ गलत किया जल्लाद की बात सुनकर भी नहीं पूछा Gyan se moksh ki Prapti

कि क्या तुमने जानबूझकर उन लोगों की जान ली जल्लाद ने जवाब दिया नहीं मैं सिर्फ अपने राजा की आज्ञा का पालन कर रहा था ने कहा कि जी हां यह बात बिल्कुल सही है कि तुम अपने राजा की आज्ञा का पालन कर रहे थे और तुम्हारे जीवन में तुमने जानबूझकर ऐसा कुछ भी नहीं किया ये बात भिक्षु ने सुनी और कहा कि यदि हम जीवन में किसी को बिना Gyan se moksh ki Prapti

Gyan se moksh ki Prapti Gautam Budh Hindi Kahani

किसी कारण के या बिना चाहे परेशान करते हैं या हमारी वजह से किसी को दुख पहुंचता है और जिस में हमारा मन नहीं होता तो वह कहीं ना कहीं कहीं गलत नहीं होता तुम अपने आज्ञा का पालन कर रहे थे अपने राजा की आज्ञा का पालन कर रहे थे

तुम्हारा धर्म भी यही है अंत में जाते-जाते ज्ञान की शिक्षाएं दिए जाने के बाद जल्लाद की मृत्यु हो गई और मृत्यु होने के बाद जल्लाद को मोक्ष की प्राप्ति हुई यह कहानी सुनकर गौतम बुध के शिष्यों ने आपस में एक दूसरे से चर्चा की कि उसने इतने गलत काम किए उसके बाद भी उसे मोक्ष की प्राप्ति कैसे हो सकती है फिर गौतम बुद्ध ने इस चीज का जवाब दिया कि जल्लाद ने ज्ञान की प्राप्ति की थी उन तपस्वी से और यदि हम ज्ञान का एक शब्द भी Gyan se moksh ki Prapti

अपने शांत चित्त और मन लगाकर सुनते हैं समझते हैं और अपने जीवन में उतारते हैं तो हमें मोक्ष की प्राप्ति होती हैं इस कहानी से हमें सीखने को मिलता है कि हमें किसी भी तरह का ज्ञान यदि अर्जित करना होता है तो हमें पूरे मन के साथ में वह करना चाहिए।

YOU CAN ALSO READ

How to Get Rid of Bad Habits in Hindi: Best21 Days Challenge

50 amazing Life Changing Stories : Gyan se moksh ki Prapti Gautam Budh Hindi Kahani

इस कहानी से हमें सीखने को मिलता है कि हमें किसी भी प्रकार की ज्ञान की प्राप्ति अधिकार ने होती है तो हमें अपना तन मन धन से उसमें अपने आपको झुकना होता है और यदि हम किसी तरह का ज्ञान प्राप्त करना चाहते हैं तो किसी ऐसे व्यक्ति से हमें उसे करना चाहिए जो हमें सही और गलत के बारे में बता सके ऐसे ही की तरह हम अपने जीवन को आगे बढ़ाते हैं तो हमें जीवन में सफलता मिलती है और मोक्ष की प्राप्ति भी होती है।

Leave a Comment