50 amazing Life Changing Stories : Anokhi Yukti Hindi Kahani

Anokhi Yukti Hindi Kahani : आप लोगों ने बहुत सारी कहानियां सुनी होगी और किसी ना किसी कहानी में किसी न किसी तरीके से आपको सीख सीखने को मिलती है तो हम भी आप लोगों के लिए 50 कहानियों की ऐसी एक सीरीज लेकर आए हैं जिसमें आप लोगों को हम बताएंगे कि कैसे आप अपने जीवन को इन कहानियों को समझकर बदल सकते हैं ।हम आज की कहानी में बात करेंगे अनोखी युक्ति की यह कहानी बहुत ही दिलचस्प है और यह कहानी है एक लकड़हारे और एक पशुपालक की तो चलिए शुरू करते हैं इस कहानी को।

50 amazing Life Changing Stories : Anokhi Yukti Hindi Kahani

Anokhi Yukti Hindi Kahani : यह कहानी एक राज्य के पशुपालक और लकड़हारे की है पशुपालक और दोनों ही बहुत अच्छे मित्र होते हैं और उनकी मित्रता इतनी गहरी होती है कि वह सुबह से लेकर शाम तक आपस में एक दूसरे के साथ ही वक्त बिताया करते थे।
वह साथ में उठते, साथ में बैठते ,साथ में खाना खाते और सारे काम ही साथ में करते थे ।

Anokhi Yukti Hindi Kahani: एक दिन राजकुमारी नगर में शिव मंदिर में आए तो उन्हे देखकर बड़े प्रसन्न हुए जैसे ही वह लौट रहे थे तो उस वक्त में पशुपालक रानी पर मोहित हो चुका था और रानी को देखकर उसने अपना सुध बुध खो दिया था।
इस बात का अंदाजा लकड़हारे को पहले तो नहीं था पर धीरे-धीरे जब रात्रि में पूरी रात पशुपालक नहीं सो पाया तो पशुपालक से पूछा कि भाई तुम क्यों इतने विचलित हो तब पशुपालक ने अपना सारा दिल के हाल को लकड़हारे को बताया ।

50 amazing Life Changing Stories : Anokhi Yukti Hindi Kahani


Anokhi Yukti Hindi Kahani: उससे कहा कि देखो मुझे राजकुमारी से प्रेम हो गया है और यह सारी व्यथा सुनकर लकड़हारे को कुछ समझ नहीं आया उसने पशुपालक को समझाया कि तुम में और उनमें दिन और रात का अंतर है पर फिर भी पशुपालक ने लकड़हारे की एक ना सुनी।
तो उन्होंने एक युक्ति निकाली और पशुपालक से कहा कि महारानी की पुत्री शिव भक्त हैं और यदि तुम शिव का रूप धर के उनके पास जाओ और उनसे कहो कि वह राजकुमारी माता का रूप है और वह उनसे विवाह करना चाहते हैं तो शायद तुम्हारा विवाह उनसे हो सकता है।

50 amazing Life Changing Stories : Anokhi Yukti Hindi Kahani


Anokhi Yukti Hindi Kahani: लकड़हारे को भी ज्ञात था कि इस काम में थोड़ा सा संकट तो आ सकता है पर फिर भी उन दोनों ने उस संकट को लेने का फैसला किया और पशुपालक ने ऐसा ही किया पशुपालक ने राजकुमारी को संदेश भेजा की आज रात शिव भगवान आपको दर्शन देने वाले हैं आप कमरे की खुली रखिएगा राजकुमारी बड़ी खुशी हुई और उन्होंने ऐसा ही किया।

Anokhi Yukti Hindi Kahani: रात में पशुपालक ने एक बहुत ही सुंदर से नंदी को चुना और उसकी सवारी करते हुए वह पहुंच गए राजकुमारी के पास और उन्होंने राजकुमारी से कहा कि वह है शिव जी हैं और राजकुमारी माता का रूप और इसी की वजह से वह उनसे मिलने आए हैं और वह उनसे विवाह करना चाहते हैं राजकुमारी शिव जी के रूप को देखकर बहुत प्रसन्न हुए और उनके पैरों में लेट गईं ।


Anokhi Yukti Hindi Kahani: राजकुमारी ने उनकी आवभगत की और उन्होंने कहा कि वह विवाह करने के लिए राजी है पर उसके लिए राजकुमारी ने यह प्रस्ताव रखा कि आप मेरे माता-पिता से इस बारे में बात कीजिए राजकुमारी के इस प्रस्ताव पर पशुपालक को यह समझ में आ गया था कि शायद उसकी पोल खुल सकती है।

50 amazing Life Changing Stories : Anokhi Yukti Hindi Kahani


Anokhi Yukti Hindi Kahani: इसीलिए पशुपालक ने कहा कि वह सिर्फ राजकुमारी को ही दिखते हैं क्योंकि वह माता का रूप है इसी की वजह से राजकुमारी ने बात मानते हुए चोरी छुपे पशुपालक से शादी कर ली और अब रोज रात को पशुपालक शिवजी के रूप धरके राजकुमारी से मिलने आने लगे । दासी को रोज आवाज सुनाई देती थी इसी वजह से वह दोनों महारानी के पास इस बात को लेकर पहुंचे उन्हें डर था कि कहीं राजकुमारी किसी मुसीबत मे ना फस जाएं ।
महारानी ने राजा को बताया और महाराजा ने इस बारे में सोचा और राजकुमारी से बात करने का फैसला लिया।

Anokhi Yukti Hindi Kahani: राजकुमारी ने सारा हाल महाराज को बताया और महाराज ने इसके बाद खुश होते हुए चोरी छुपे भगवान शिव के रूप में पशुपालक को देखा और बहुत खुश हुए और इसकी वजह से उन्होंने इस घमंड में आकर आसपास के राज्यों पर आक्रमण कर लिया की वह शिव जी की कृपा प्राप्त किए हुए हैं। उन्हें कोई नहीं हरा सकता इसी की वजह से राजा परेशानियों में फंस गए उन्हें चारों ओर से आक्रमणकारियों ने घेर लिया और तब वह राजकुमारी के पास आए और उन्होंने शिवजी से मदद करने को कहा पशुपालक अब महसूस कर चुके थे कि अब वह फस गए हैं ।


Anokhi Yukti Hindi Kahani: पर उन्होंने हार नहीं मानी और उन्होंने अपने दोस्त लकड़हारे से तांडव सीखा और लकड़हारे से एक उड़ने वाला नंदी बनाने को कहा उड़ने वाले गंदी पर शिवजी को देखकर आसपास के राजा डर गया और उन्होंने उस राज्य को छोड़ दिया और राजा के ऊपर से संकट घट गया पर अब पशुपालक को यह समझ में आ गया था कि वह गलती कर रहा है ।


उसने राजा से माफी मांगते हुए सारी व्यथा सुना दी सब यह सुनकर बहुत बोहोचके हो गए और राजा को क्रोध भी आया पर उन पर राजा ने खुशी जताई क्योंकि पशुपालक की दिलेरी से वह खुश हैं और उन्होंने राजकुमारी के साथ में पशुपालक का विवाह कर दिया।

You Can Also Read

5 Amazing Facts About Martial Law : Martial Law Meaning in Hindi

50 amazing Life Changing Stories : Anokhi Yukti Hindi Kahani(शिक्षा)

इस कहानी से हमें यह शिक्षा मिलती है कि कभी भी हमें किसी चीज को पाना होता है तो हमें उसे झूठ बोलकर नहीं पाना चाहिए और उसी के साथ साथ इस कहानी से हमें यह शिक्षा मिलती है कि यदि हम किसी परिस्थिति को डटकर सामना करते हैं तो हमें जीवन में काफी सफलता हासिल होती है तो हमें कभी भी किसी परिस्थिति से भागना नहीं चाहिए हमें उस का डटकर सामना करना चाहिए।

Leave a Comment