Yuvraj Singh Biography in Hindi:5 Amazing Facts about Yuvraj Singh

5 Amazing Facts about Yuvraj Singh : क्रिकेट इतिहास में एक नाम हमेशा लोगों की जबान पर रहेगा और रहता भी है वह नाम है युवराज सिंह जी हां एक ऐसे इंसान जिन्होंने अपने क्रिकेट कैरियर में ही अपने खेल के दम पर परचम नहीं लहराया बल्कि उसी के साथ साथ उन्होंने इस चीज को अपने जीवन में भी अपना और अपने जीवन में भी वह अपने इस दृढ़ निश्चय और दृढ़ विचारों की वजह से कैंसर जैसी बीमारी को भी मात देकर अपने जीवन में बयान के बड़े तो आजकल के माध्यम से आप लोगों को बताएंगे कि युवराज सिंह के जीवन से जुड़ी वह कौन सी 5 अमेजिंग फैक्ट है

5 Amazing Facts about Yuvraj Singh

जो आप लोगों को नहीं पता और कैसे उन्होंने अपने को शुरू किया था और उनके जीवन में कौन-कौन से रिकॉर्ड उन्होंने तोड़े हैं इस बारे में हमेशा टिकल के माध्यम से आप लोगों से चर्चा करेंगे इन लोगों के साथ में रहते हैं।

Yuvraj Singh Career ( Yuvraj Singh का सफर)


युवराज सिंह की बात आते ही सबसे पहले दिमाग में वह छह छक्के याद आते हैं 2007 के आईसीसी वर्ल्ड कप में इंग्लैंड के खिलाफ स्टुअर्ट ब्रॉड जब बॉलिंग कर रहे थे तो हर एक बॉल पर लोगों के साथ से बढ़ रही थी जब चार या पांच छक्के लग गए तो 5 छक्के के बाद छठे छक्के में लोगों की सांसे रुकी हुई थी और मानव की टीवी स्क्रीन के सामने हर एक शख्स उस दिन हमारे देश का उछला था।

बात करी युवराज सिंह के कैरियर की तो उन्होंने 11 साल की उम्र में ही अपना क्रिकेट कैरियर शुरू किया था 12वीं नंबर के खिलाड़ी के तौर पर 1995 और 1996 में जम्मू और कश्मीर के खिलाफ उन्होंने खेला सन 1996 97 में पंजाब की अंडर-19 टीम से हिमाचल के खिलाफ खेलने गए

Yuvraj Singh Career ( Yuvraj Singh का सफर)

और उन्होंने सन् 2000 में अंडर-19 क्रिकेट वर्ल्ड कप में टीम में अपनी जगह बनाई और उस वर्ल्ड कप में मोहम्मद कैफ की मेजबानी में भारत ने वर्ल्ड कप जीता और आईसीसी नॉकआउट ट्रॉफी में भारत का चयन हुआ उसी के साथ साथ ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ उन्होंने टूर्नामेंट में 82 बॉल में 84 रन बनाए थे और श्रीलंका के खिलाफ भी उन्होंने इस टूर्नामेंट में बहुत अच्छा प्रदर्शन किया था और प्रदर्शन के दम पर वह अपने जीवन में आगे बढ़ते रहें और 2002 में इंग्लैंड के खिलाफ उन्होंने प्रदर्शन करते हुए उन्होंने टीम में अपनी जगह बनाई और उन्होंने यह सफर पीछे मुड़ के फिर कभी नहीं देखा

और हम सब जानते ही हैं उनके 2007 के करिश्मे के बारे में 2011 में उन्होंने वर्ल्ड कप जिताने में भी बहुत बड़ा योगदान दिया और उनके अपने जीवन में खुद वह एक बहुत बड़ी बीमारी से जूझ रहे थे फिर भी उन्होंने खेलते हुए आगे बढ़ते हुए बीमारी को अपने जीवन में हराया और वह आज भी इनाम के तौर पर जाने जाते हैं।

Yuvraj Singh Career ( Yuvraj Singh का सफर)

Yuvraj Singh Lifestyle (Yuvraj Singh का निजी जीवन)


हम सभी जानते हैं कि युवराज सिंह एक मस्त मौला इंसान है और उसी की वजह से लोग उनके साथ में रहना काफी पसंद करते हैं ऐसा कहा जाता है कि युवराज सिंह एक ऐसी शख्सियत है जिन्होंने अपने जीवन में काफी कुछ देखा है और उनके दोस्त भी यही कहते हैं ऐसा कहा जाता है कि यदि हम क्रिकेट महकमे की बात करें तो हरभजन सिंह को उनके बचपन का दोस्त माना जाता है और मैं आज भी ऐसे ही रहते हैं जैसे कि वह बचपन में स्ट्रगल टाइम में रहते थे जैसे कि हम जानते हैं

Yuvraj Singh Lifestyle (Yuvraj Singh का निजी जीवन)

कि यह बहुत बड़ा फेस देखकर आए हैं अपने जीवन में तो उसी की वजह से इन्होंने अपने खेलने का तरीका भी मस्त मौला रखा है और इनके जीवन में साफ झलकता है यह आपके बल्लेबाज है और लोग भी करते हैं और इसी की वजह से उनके जीवन में जाना जाता है यह एक बेहतरीन फील्डर भी है और इनकी फील्डिंग के चर्चे आज भी लोगों को सिखाए जाते हैं और कहे जाते हैं कि उनकी तरफ फील्डिंग करना आपको सीखना चाहिए बच्चों को इनके बारे में सिखाया जाता है और बताया जाता है।

Yuvraj Singh Cricket Records ( Yuvraj Singh Cricket आंकड़े)


Yuvraj Singh एक ऐसे नाम हैं जिन्होंने अपने जीवन में बहुत बड़ी बड़ी उपलब्धियां हासिल की और कुछ उपलब्धियां तो ऐसी है जो सिर्फ इकलौते ही ऐसे बंदे हैं जिन्होंने की या फिर बहुत एक या दो जने ही है जिन्होंने अपने जीवन में में उपलब्धियां हासिल करें और उन्होंने अपने जीवन में उपलब्धियों को हासिल किया।


1) सबसे पहले तो आईसीसी वर्ल्ड कप 2007 की बात करते हैं T20 मैच में अंग्रेजो के खिलाफ इंग्लैंड टीम के खिलाफ उन्होंने छह छक्के लगाकर एक नया कीर्तिमान हासिल किया था ।


2) यह पहले ऐसे ऑलराउंडर बने जिन्होंने सिंगल वर्ल्ड कप में 300 से ज्यादा रन बनाए और 15 से ज्यादा विकेट लिए।


3) युवराज सिंह को 2011 की वर्ल्ड कप में ओ डी आई वर्ल्ड कप जिसे हम कहते हैं उस में मैन ऑफ द टूर्नामेंट का खिताब जीता था।


4) उन्होंने 2012 में राष्ट्रपति श्री प्रणब मुखर्जी के द्वारा सबसे बड़ा खेल रत्न अर्जुन अवार्ड भी जीता था और अपने खेल सबको उन्होंने प्रभावित भी किया था।

Yuvraj Singh Lifestyle (Yuvraj Singh का निजी जीवन)


5) 2014 में युवराज सिंह को पद्मश्री अवार्ड से सम्मानित किया गया।


6) और अपने प्रेरणादायक कार्यों की वजह से 2014 में FICCI अवार्ड से उन्हें सम्मानित किया गया और इसी की वजह से वह काफी जानी-मानी हस्तियों में से एक माने जाते हैं क्रिकेट जगत में

YOU CAN ALSO READ

Just Doing Simple Work and Getting Success in Hindi


Final Words For Yuvraj Singh Biography in Hindi :5 Amazing Facts about Yuvraj Singh


हम आशा करते हैं कि आप लोगों को यह टिकल पसंद आया होगा अपना कीमती वक्त निकालकर इसे पढ़ने के लिए धन्यवाद!

Leave a Comment