5 best Health Benefits Of Simhasana in Hindi

Benefits Of Simhasana in Hindi : हमारी योग विद्या में बहुत सारे ऐसे योगासन होते हैं जो इतने अविश्वसनीय फायदे दिलवाने वाले होते हैं जिनके बारे में हम बहुत ना के बराबर ही जानते हैं तो आज के इस आर्टिकल के माध्यम से हम ऐसे ही एक आसन के बारे में आप लोगों को बताने जा रहे हैं जिसकी मदद से आप लोग यह समझ सकते हैं कि किस तरह से एक आसन आपके जीवन को पूरी तरह से बदल सकता है।

5 best Health Benefits Of Simhasana in Hindi

आज के इस आर्टिकल के माध्यम से हम आप लोगों को Simhasana के बारे में कुछ ऐसे दिलचस्प तथ्यों के बारे में बताएंगे इसके बारे में बहुत कम लोग ही जानते हैं इस आर्टिकल के माध्यम से हम आप लोगों को यह बताने का प्रयास करेंगे कि कैसे आप इस आसन को आसान तरीके से कर सकते हैं और क्या-क्या चीजों का ध्यान आपको देना चाहिए इस आसन को करते वक्त।

What is Simhasana ? ( सिंहासन क्या होता है ?)

सबसे पहले तो हमें यह जानने की बहुत जरूरत होती है कि यह आसन होता क्या है जैसा कि इसके नाम से ही पता चल रहा है कि यह आसन करते हुए व्यक्ति सिंह की तरह प्रतीत होते हैं तो इसे की वजह से इसे सिंहासन या फिर लायन पॉज के नाम से भी जाना जाता है यह एक अनोखे आसनों में से एक है क्योंकि यह आसन एकलौता ऐसा आसन है जिसमें हमें ध्वनि बनाने की आवश्यकता पड़ती है।

What is Simhasana ? ( सिंहासन क्या होता है ?)


यह आसन का नाम दो शब्दों से मिलकर बना हुआ है सिंह और आसन सिंह का अर्थ शेर होता है क्योंकि जब भी कोई व्यक्ति आसन करता है तो वह शेर की तरह प्रतीत होता है और आसन का अर्थ हम जानते ही हैं संस्कृत भाषा में कोई भी एक योगासन।

How to Do Simhasana ?( सिंहासन कैसे करते हैं?)

सबसे महत्वपूर्ण बात यह होती है किसी भी आसन को करते वक्त कि आप उस आसन को यदि सही तरीके से करते हैं तो ही आप को उसके लाभ मिलते हैं बहुत बार ऐसा होता है कि हम नियमित तौर पर किसी चीज को कर रहे होते हैं किसी आसन को कर रहे होते हैं पर हमें उसके लाभ मिलने की वजह हमें किसी ना किसी तरह का कष्ट होने लगता है

How to Do Simhasana ?( सिंहासन कैसे करते हैं?)

तो सबसे पहले हमें जानना बहुत जरूरी होता है किसी आसन को करते वक्त भी उसे करते कैसे हैं और क्या-क्या चीजें हमें ध्यान में रखनी होती हैं किसी भी आसन को करते वक्त।

1) सबसे पहले तो आप लोगों को वज्रासन में बैठना होता है और अपने घुटनों को एक दूसरों से अलग रखना होता है ताकि उसमें एक उचित दूरी बनी रहे।
2) उसके पश्चात आप लोगों को दोनों हथेलियों को अपने पैरों के घुटनों पर रख देना होता है।

How to Do Simhasana ?( सिंहासन कैसे करते हैं?)


3) रीड की हड्डी को आप लोगों को यह ध्यान में रखते हुए सीधा रखना है कि उस पर ज्यादा ना तो आपको जोड़ देना है और ना ही उसे धीरे धीरे छोड़ना है और उसी के साथ साथ आपको अपनी सांसों को नियंत्रित करते हुए अपनी गहरी गहरी सांसें लेने पर ध्यान देना होता है।


4) आपको इस चीज का ध्यान देना होता है कि जीव को अपनी बाहर की ओर निकालना होता है जितना आप निकाल सकते हैं।
5) आपको सांस को बाहर की ओर छोड़ते हुए हाथ की ध्वनि को बनाना होता है और यही प्रयास करना होता है कि वह धोनी एक ही स्वर में रहे।


6) अंत में आपको अपने शरीर को आराम देना होता है और इस चीज का ध्यान देना होता है कि यह एक तरह का प्रक्रिया है जिसे आपको 3 से 5 बार तक दोहराना होता है।

YOU CAN ALSO READ

6 Interesting Facts about The Name Sejal: Sejal Name Meaning in Hindi

Shanvi Name Meaning in Hindi: 6 Interesting Facts about The Name Shanvi

Can we Do Simhasana twice in a day ?( क्या हम सिंहासन दो बार कर सकते हैं दिन में?)

जी हां आप Simhasana को दिन में दो बार कर सकते है पर इसके लिए आपको यह ध्यान में रखना बहुत जरूरी होता है कि आप किसी expert की देखरेख मे ही से करें ।

Can we lose fat with the help of Simhasana ?( क्या सिंहासन की मदद से हम पेट की चर्बी घटा सकते है ?)

जी हां सिंहासन के बहुत सारे फायदे होते है जिनमें से एक फायदा यह भी होता है कि आपके अनावश्यक चर्बी को है कम करता है ।

After How many minutes of drinking water we can do yoga ?( योग करने के कितने वक्त पहले हमे पानी पीना चाहिए ?)

यदि आप किसी भी प्रकार का कोई भी शारीरिक व्यायाम कर रहे हैं तो उसके आपको 30 से 35 मिनिट पहले या अभी से 35 मिनट बाद ही पानी का सेवन करना चाहिए ।

Final Words for 5 best Health Benefits Of Simhasana in Hindi

हम आशा करते हैं की आप लोगों को याद कर पसंद आया होगा अपना कीमती वक्त निकालकर इसे पढ़ने के लिए धन्यवाद!

Leave a Comment