How to do Kapalbhati Pranayama and its Benefits and 7 its Amazing steps

Kapalbhati Pranayama की पूरी जानकारी:- कपालभाती श्वसन प्रक्रिया से संबंधित है, कपालभाती दो शब्दों से मिलकर बना है कपाल और भाती, कपाल का अर्थ होता है “मस्तिष्क” तथा भाती का अर्थ होता है “चमक” या तेज अर्थात कपालभाति के माध्यम से हम हमारे मस्तिष्क को स्वस्थ तेज बनाए रख सकते हैं । कपालभाती में भीतर से बाहर की ओर तक एक अध्यात्मिक purn  शेत्र तैयार होता है , और यह आध्यात्मिक ऊर्जा के द्वारा ही हमारा आत्मा का परमात्मा से मिलन होता है ,और समाधि सुख प्राप्त होता है । यह बहुत ऊर्जावान प्राणायाम है इस प्राणायाम को 1 सेकंड में 1 बार करें और फिर दोबारा करेंयोगा।  

यह कहा जाए तो कपालभाति के लिए कुछ लोगों ने भ्रांति फैलाई हुई है कि किसी भी प्रकार का यदि कोई रोग है तो इस प्राणायाम को नहीं करना चाहिए , लेकिन ऐसा बिल्कुल नहीं है आप इसे हमेशा कर सकते हैं । ऐसा कहा जा सकता है कि जिन्हें कोई रोग है तो वह धीमी गति से इस प्राणायाम को करें । यह प्राणायाम हीमोग्लोबिन के स्तर को बढ़ाने में बहुत सहायक है । सामान्यतः देखा जाता है कि महिलाओं में हीमोग्लोबिन का स्तर कम पाया जाता है इसलिए महिलाओं को कपालभाति अवश्य करना चाहिए  ।

Kapalbhati Pranayama
Kapalbhati Pranayama

Why we should do Kapalbhati Pranayama?

हमें कपालभाति क्यों करनी चाहिए?

जब आप कपालभाति करते हैं तो आपके फेफड़े मजबूत रहते हैं ।

आपको मोटापा नहीं रहता है।

यह वजन कम करने में बहुत सहायक होता है । इसलिए प्रत्येक व्यक्ति को कपालभाति करना आवश्यक है ।

कपालभाती से योन संबंधी कोई भी समस्या का समाधान किया जा सकता है ।

बाल झड़ने से रोकने के लिए भी कपालभाति वरदान के रूप में एक प्राणायाम है ।

यह कहा जा सकता है कि सभी रोगों की एक दवा कपालभाति है।

कपालभाती का मस्तिष्क पर प्रभाव:-

कपालभाती से ब्रेन वेव्स को प्रभावित करता है और हमारी मानसिक स्थिति जोकि आरामदायक अवस्था में रहती है , लेकिन आजकल अनेक तनाव के कारण आराम की अवस्था में मस्तिष्क का रहना नामुमकिन है | अनेक तनाव चिंता आज की भाग दौड़ में मस्तिक को आरामदायक अवस्था में रखने के लिए Kapalbhati Pranayama बहुत ही उत्तम है , साथ ही जो तनाव के कारण या अशांति के कारण अनेकों बीमारियां शरीर में जन्म ले लेती हैं इन बीमारियों से मुक्ति दिलाने में भी कपालभाति प्राणायाम बहुत सहायक है।

Benefits of Kapalbhati Pranayama

How to do Kapalbhati Pranayama and its Benefits and 7 its Amazing steps

कपालभाति प्राणायाम के लाभ :-

1. वजन कम होता है ।

2. बांझपन को दूर करता है ।

3. कैंसर से मुक्ति

4. गर्भाशय संबंधी बीमारी को दूर करता है।

5. पुरुष के यौन संबंधी बीमारी को दूर करने में अद्भुत है।

6. शरीर में कोई पथरी की समस्या हो तो कपालभाति के द्वारा पथरी की समस्या को दूर किया जा सकता है ।                        

7. हड्डियों की कमजोरी को दूर करता है ।

8. हिमोग्लोबिन तथा विटामिन की कमी को पूर्ण करने में यह सहायक है ।

9. मुख्य रूप से आंतों को स्वस्थ बनाता है ।

10. स्ट्रेस हार्मोन को नियंत्रण करता है ।

11. उत्साह की कमी होने पर उत्साह को बढ़ाता है ।

12. हड्डियों से संबंधित रोग को दूर करता है ।

13. मन को शांत बनाए रखने में सहायक होता है ।

14. शरीर में किसी भी प्रकार की गांठ जैसे कैंसर ब्लड कैंसर या किसी भी प्रकार की गांठ को ठीक करने में कपालभाति बहुत अधिक सहायक है।

कपालभाति करते समय कुछ बातों का ध्यान अवश्य रखें :-

भोजन करने के तुरंत बाद कपालभाति प्राणायाम ना करें।

प्रातः काल खुले स्थान पर बैठकर ही प्राणायाम करें ।

कपालभाति प्राणायाम को खाली पेट ही करें।

यदि आपने भोजन कर लिया है तो पूजन करने के 5 से 6 घंटे बाद कपालभाति प्राणायाम कर सकते हैं ।

कपालभाति प्राणायाम करने के बाद 45 मिनट तक कुछ ना खाएं बीच में थोड़ा-थोड़ा पानी पी सकते हैं ।

कपालभाति करते समय झुक कर ना बैठे ।

प्रारंभ में ही 50 बार से अधिक करने का प्रयास ना करें।

How to do Kapalbhati Pranayama

कपालभाति करने की विधि:-

1.खुली व शुद्ध हवा वाले स्थान पर दरी बिछाकर बैठ जाएं  ।

2. सिद्धासन या वज्रासन में बैठ जाए ।

3.  घुटनों पर हाथ रखे और सांस को अंदर ले और बाहर छोड़े यह क्रिया नाक के द्वारा ही की जाती है  ।

4. सांस को बाहर छोड़ते समय पेट को अंदर की ओर ले जाएं और सांस को अंदर लेते समय पेट को बाहर की ओर लाएं ।

5.  शुरुआत में धीमी गति से फिर मध्यम गति से और अच्छे से अभ्यास होने के पश्चात कपालभाति प्राणायाम को तेज गति से करें।   

How to do Kapalbhati Pranayama and its Benefits
How to do Kapalbhati Pranayama and its Benefits

 

FAQ Related To How To do Kapalbhati Pranayama and its Benefits

Which Type of Yoga is Kapalbhati?
Kapalbhati किस प्रकार का योग है?

Kapalbhati एक ऐसा योग है जिसको Breath of Fire के नाम से भी जाना जाता है। जिसकी मदद से कोई भी व्यक्ति अपनी आतंरिक Purification कर सकता है ।

Is Kapalbhati Harmful?
( क्या Kapalbhati नुकसानदाई है?)

Kapalbhati एक ऐसी योग क्रिया है जिसको अगर आप किसी फ्रेंड गुरु के सानिध्य में नहीं करेंगे तो यह आपको बहुत ज्यादा नुकसानदायक हो सकता है। यह आपका Blood Pressure भी बढ़ा सकता है । यह आपको उल्टियां भी लगवा सकता है यदि आप इसे खाली पेट करते है । और भी बहुत सारी समस्या है जो आपको हो सकती है यदि आप कपालभाति करते हैं बिना किसी पूरी Knowledge के।

Final words for How to do Kapalbhati Pranayama and its Benefits

यह कहना उचित होगा कि कपालभाति अद्भुत प्राणायाम है सभी रोगों की एक दवा है मन मस्तिष्क शरीर आदि का सुख प्राप्त करने के लिए कपालभाति प्राणायाम करने को कहा जाए तो कोई आश्चर्य की बात नहीं है प्रत्येक व्यक्ति के द्वारा इस प्राणायाम को करने से सुख में जीवन प्राप्त होता है।

हम करते हैं कि आपको हमारा यह आर्टिक्ल ‘How to do Kapalbhati Pranayama and its Benefits’ पसंद आया होगा ।

Leave a Comment