Best Tratak Kriya in Hindi With 4 Facts

What is Tratak Kriya in Hindi:-

किसी एक बिन्दु या वस्तु को बिना पलक झपकाए देखने को Tratak Kriya त्राटक क्रिया कहा जाता हैं । आज हम इसके (Best Tratak Kriya in Hindi) बारे में पूरी जानकारी लेंगे । इस बात का विशेष ध्यान रखें कि किसी भी प्रकार की Tratak Kriya त्राटक क्रिया को केवल और केवल ट्रेंड टीचर के मार्गदर्शन में ही करें ।

Tratak Kriya
Tratak Kriya

Tratak Kriya त्राटक क्रिया से आप भली भांति परिचित होंगे हमने आपको पहले भी Tratak Kriya in hindi से जुड़े कुछ लेख में बताया है । आज के इस आर्टिकल में आपको त्राटक के प्रकार व् इसके वर्गीकरण के ऊपर चर्चा करंगे। 

Our Recent Article:-

Tratak Kriya Kya Hai, Kaise Kaam karti hai ?

त्राटक के कई तरह के स्टेप है जिन्हे जानना हमारे लिए बहुत जरुरी है यदि आप त्राटक क्रिया करने का विचार कर रहे है । त्राटक के प्रकार को हम इसके महत्त्व एवं अनुभव के आधार पर विभाजित कर सकते है।

आज के लेख में आप समझेंगे की Tratak Kriya in hindi का वर्गीकरण कैसे किया गया है एवं इसके वर्गीकरण के आधार कौन कौन से है।  इसमें हम पूरा प्रयाश करेंगे की आपको हर चीज पूरी डिटेल में समझे जाये ।  आप अपने उद्देश्य को ध्यान में रखते हुए त्राटक का चयन करेंगे तो ये आपकी त्राटक क्रिया में सफलता के प्रतिशत को बढ़ा देता है। 

Classification of Tratak Kriya:-

त्राटक क्रिया का वर्गीकरण

हम इस बात से भली भांति परिचित है की Tratak Kriya in hindi किसी भी माध्यम में सम्पूर्ण किया जा सकता है । इस हेतु आपको बस इसमें मन में दृढ़ता एवं संयम को रखना होता है इसे ही आप अपनी सफलता की निचानी मान सकते है। कहने का तात्पर्य है की किसी अन्य वस्तु की प्रकृति को अपने अंदर उतरना ही एक प्रकार से संयम है । वह घर की वास्तु क्रिया , या फिर हमारी कल्पना भी हो सकती है।

Related video:-

Tratak kriya kaise kare?

आईये त्राटक के वर्गीकरण के बारे में विस्तार से पढ़ते है ।

स्थान अधवा दुरी के आधार पर त्राटक: –

स्थान एवं दुरी के आधार पर Tratak Kriya in hindi का वर्गीकरण किया हुआ है जिसमे पहला निकट त्राटक एवं दिर्तीय दूर त्राटक और तीसरा अंतर त्राटक है । हम इनके नाम से भी यह ज्ञात कर सकते है की ये त्राटक किस प्रकार से किया जा सकता है । अंतर त्राटक को हम मूर्ति त्राटक भी कह सकते है । अधिकतर सम्मोहन विद्या में इसका उल्लेख किया गया है ।

अनुभव के आधार पर त्राटक :-

अनुभव किस प्रकार से किया जाता है ऐसी आधार पर Tratak Kriya in hindi को दो भागो में खंडित किया हुआ है जिसमे पहला लौकिक अनुभव है , जिसमे हमारे व्यक्तित्व विकास की सभी बातो का जिक्र किया गया है ।  जैसे आखो की रोशनी बढ़ता एवं सम्मोहन शक्ति में वृद्धि होना आदि ।

Tratak Kriya in Hindi
Tratak Kriya in Hindi

इसका दूसरा रूप अलौकिक अनुभव है जिसमे उच्च क्षेत्र के Tratak Kriya in hindi को सम्मिलित किया गया है । जिसके अंदर हमारे त्रिनेत्र होने का उल्लेख , सूक्ष्म शरीर का अनुभव , एवं मानशिक शक्तियों के बारे में उल्लेख मिलता है। टेलीपेथी नामक विद्या एकमात्र ऐसी विद्या है जो विज्ञानं एवं अनुभव दोनों प्रकार एक त्राटक में सम्मिलित किया गया है ।

महत्त्व के आधार पर त्राटक का वर्गीकरण :-

इसमें हमारे उद्देश्य को लेकर बात की गयी है जिसमे यदि हमारा उद्देश्य साधारण है या फिर अलौकिक अनुभव हेतु त्राटक क्रिया करते है । इसके आधार पर ही त्राटक का महत्व तय होता है । सामान्य त्राटक के अंदर बिंदु त्राटक , सप्त वर्तुल त्राटक , शक्ति शकरा Powerful Tratak Kriya का उल्लेख है । 

 How to do Tratak Kriya?

त्राटक करने की सही विधि कोनसी है ?

यदि आप त्राटक करने की सोच रहे है तो आपको बता दे की इसका कोई शॉर्टकट रूप नहीं है । कोई भी विधि हो उसका कोई शॉर्टकट नहीं होता यदि आपको उसमे सफलता हासिल करनी है।  किसी भी कार्य को करने हेतु हमें पुरे लग्न से अपना पूरा समय उसमे देना होता है  तभी हम इस क्षेत्र में सफल हो सकते है ।( how to do Tratak Kriya in hindi )

Tratak Kriya त्राटक क्रिया
Tratak Kriya त्राटक क्रिया

यदि आप शॉर्टकट की तरफ भागेंगे तो आपको कुछ समय के लिए इसका अहसास जरूर हो सकता है परन्तु आपको कभी भी इसमें सफलता नहीं मिल पायेगी। 

और ऐसी कोई भी चीज किस काम की जो हमारे साथ ज्यादा समय तक रहे ही नहीं।  इसलिए हमें इसके नियमो को ध्यान रखते हुए पुरे लग्न से इसे करना होगा।  इससे हमें अच्छा फायदा भी मिल जायेगा। 

Facts Related to Tratak Kriya:-

  1. त्राटक क्रिया का कभी भी अपने स्वार्थ हेतु उपयोग न करे , हमेशा अपने आप को फायदा पहुंचने हेतु इसका उपयोग करे। 
  2. जिस समय आपका मन चिंतित हो या मन में किसी प्रकार की बेचैनी हो तो आप ऐसे स्थगित कर दे क्युकी जब आपका मन अशांत होता है तो आपका दिमाग ठीक से काम नहीं करता है इसलिए आपके द्वारा की गयी क्रिया का कोई भी लाभ आपको नहीं मिलता है। 
  3. ध्यान करते समय इस बात का ध्यान दे की आप अपने चेतन मन के ऊपर ज्यादा ध्यान केंद्रित न करे , जब आप किसी भी चीज को तर्क वितर्क की नजरिये से नापने से बचते हो तो यही आपके अवचेतन मन की निचानी है । अधिकतर लोग यही पर गलती कर बैठते है। ।
  4. किसी भी चीज को एक निश्चित अवधि तक ही सिमित न रखे , जैसे त्राटक – आप कभी भी ये विचार अपने दिमाग में मत लाये की आपको केवल इतने समय अंतराल तक ही इसे जारी रखना है। कोई भी अभ्यास हो उसे पूरा करने के बाद कुछ समय बाद कभी कभी दोहराते रहतना चाहिए अन्यथा आपके द्वारा किया गया प्रयाश निष्फल होने लगता है। 

How many kinds of Tratak is there?:-

How many kinds of Tratak is there?

4 Type of Tratak Kriyaa -4 त्राटक के प्रकार

  1. बिंदु त्राटक
  2. शप्त वर्तुळ त्राटक
  3. दीपक त्राटक
  4. दर्पण त्राटक

बिंदु त्राटक (Point Tratak):-

ये सबसे शुरूआती चरण होता है जिसमे आपको Tratak Kriya in hindi अभ्यास शुरू करने के लिए इस चरण से गुजरना होता है ।  यदि आप बिंदु त्राटक को करते है तो आपके आखो में पानी आने जैसी समस्या ख़तम हो जाती है।  इसके फायदे बहुत सारे है जिसमे आपके आखो की रोशनी भी बढ़ती है साथ ही आपके आखो से सम्बंधित बीमारिया भी ख़तम हो जाती है। 

शप्त वर्तुळ त्राटक :-

यह आपके आत्मविश्वास में वृद्धि करता है एवं आपके अवचेतन मन को जगाने का कार्य करता है । बिंदु त्राटक करने के उपरांत आपको ये अभ्यास अवश्य करना चाहिए जो आपके अवचेतन मन को तेजी से जगाता है ।

दीपक त्राटक (Candle Meditation):-

यह अभ्यास बिंदु त्राटक से पूर्व नहीं करना चाहिए क्युकी ये आपके अग्नि तत्व के जागरण हेतु ये बहुत अनिवार्य है परतु इसके पहले आपको बिंदु त्राटक का अभ्यास करना अनिवार्य है । इससे हमारे स्वभाव में परिवर्तन आता है सही ही हमारे शरीर के तापमान में भी बैलेंस होता है ।

दर्पण त्राटक (Mirror Tratak):-

यह त्राटक सम्मोहन क्रिया के लिए बहुत ही कारगर है । अधिकतर लोग जब किसी परेशानी में होते है तो वो शीशे के सामने खड़े होकर खुद का हौसला बढ़ाते है । ये आपके आत्मविश्वास में वृद्धि करने का कार्य करता है एवं इसके अंदर आप वक्त का अंदाजा या फिर निर्धारण नहीं लगा सकते है। 

FAQ Related To Best tratak kriya in Hindi with 4 facts

Can Tratak remove glasses ? ( क्या tratak से चश्मा हटाया जा सकता है?)

Tratak Meditation एक ऐसी meditation है जिस पर आप एक बिंदु पर केंद्रित अपना ध्यान किया करते हैं इसकी मदद से हम Central Nervous System को दुरुस्त रख सकते हैं । जिसकी मदद से यह हमारे आंखों को भी आराम पहुंचाएं करता है इसीलिए हम कह सकते हैं कि यदि आप नियमित रूप से त्राटक करते हैं तो इससे आपके चश्मे हटने के chances बढ़ जाते हैं।

Is Tratak good for students?( क्या त्राटक students के लिए अच्छा होता है?)

जी हां त्राटक बच्चों के लिए बहुत ही ज्यादा फायदेमंद हुआ करता है क्योंकि इससे बच्चों के दिमाग की एफिशिएंसी बड़ा करते हैं और वह एक जगह पर ज्यादा अच्छी तरीके से concentrate कर पाते हैं । Tratak meditation यदि कोई स्टूडेंट नियमित रूप से किया करता है तो उसे चीजें याद करने में आसानी हो जाती है और इससे वह बेहतर perform कर पाता है अपने किसी भी Exam में।

How is Tratak done? ( त्राटक कैसे किया जाता है?)

Tratak meditation मे हम अपनी आंखों के सामने एक मोमबत्ती को जलाकर रखा करते हैं और हम यह प्रयास किया करते हैं कि मोमबत्ती की लौ पर हम अपने ध्यान को केंद्रित कर पाए और इसी बीच हम यह भी प्रयास किया करते हैं कि हमारी आंखें या फिर पलके झपके ना।

Final words for Tratak Kriya:-

इस आर्टिकल के माध्यम से आज हम लोगों ने आपको यह बताने का प्रयास किया है कि बेस्ट त्राटक क्रिया कौन-कौन सी हुआ करती हैं और इसी के साथ में इस आर्टिकल के माध्यम से हम ने यह भी बताया कि वह कौन से चार फैक्स हुआ करते हैं जो त्राटक क्रिया से जुड़े हुए हैं और बहुत ही ज्यादा महत्वपूर्ण हुआ करते हैं।

आज के इस आर्टिकल में हमें आपको कुछ ऐसे त्राटक के प्रकारो से परिचित करवाया जो आपको जानना बहुत जरुरी था । हम आये दिन किसी न किसी समस्या को लेकर चिंतित रहते है परन्तु जब ध्यान को को अपनी जीवनशैली में सम्मिलित कर लिया जाता है तो सब कुछ आसान हो जाता है। 

इसलिए आपको त्राटक क्रिया के द्वारा अपनी जीवन में कुछ बदलाव अवश्य लाने चाहिए। हम आशा करते हैं कि आपको हमारा यह आर्टिक्ल (Best Tratak Kriya in Hindi) पसंद आया

Leave a Comment