What is Yoga Nidra in Hindi-Yoga Nidra Kya Hai Abhi Jane with 6 amazing benefits

आज हम बात करेंगे योग निद्रा क्या है हिन्दी में (What is Yoga Nidra in Hindi)। आराम से लेट कर अपने शरीर को विश्राम देना योग निद्रा है । इस प्रक्रिया के दौरान हम Guided Meditation का प्रयोग भी करते हैं ।

जैसा की हम जानते है की योग सभी रोगो का निवारण करता है।  हमारे शारीरिक एवं मानसिक शक्ति में हमें फर्क देखने को मिल जाता है । हमारे शरीर को स्वस्थ एवं ऊर्जावान रखने के लिए योग का बहुत महत्त्व है। 

आप इस बात से वाकिफ होंगे की योग में कई तरह के आसान होते है जिसमे योग निंद्रा का अपना एक अलग महत्त्व है।

Our Recent Article:-

4 Exclusive Morning Yoga for Beginners in Hindi

 यह प्राचीन समय से ही काफी सर्चा में है । इसमें हमारे मस्तिष्क व् शरीर दोनों को अलग ऊर्जा प्राप्त होती है ।  इसके अनेक फायदे होने की वजह से काफी लोगो के द्वारा ऐसे अपनाया जा रहा है।

तो आईये आपको समझते है yog nidra in hindi  के बारे में की योग निद्रा क्या है? योग निद्रा के लाभ कौन  कौन से है एवं योग निद्रा को कैसे किया जाता है ?

योग निद्रा क्या है ? What is Yoga Nidra in Hindi:-

योग निद्रा को आप आध्यात्मिक ऊर्जा भी कह सकते है। Yog Nidra in Hindi  आपके सोने तथा जगाने के बीच की अवस्था होती है । जिससे आप अपने शरीर को आराम तो पहुंचाते ही है साथ ही आप एक ऊर्जा की प्राप्ति भी करते है । जो आपको परम आनंद की अनुभूति करवाती है ।

What is Yoga Nidra in Hindi
What is Yoga Nidra in Hindi

योग निद्रा को करना बहुत ही आसान मन जाता है।  क्युकी योग निद्रा को आप लेटकर बहुत ही आरामदायक स्थिति में कर सकते है । आपको ऐसे करने के लिए एक जगह पर लेट जाता होता है।  उसके बाद आप सोते सोते अपने सांसो के ऊपर ध्यान केंद्रित करे। 

कुछ ही समय में आपको लगेगा की आपको एक शांति महसूस  हो रहा है। और आपको एक ऊर्जा की प्राप्ति हो रही है। एवं अपने आप को ऊर्जावान महसूस करने लगते है । जब आप ध्यान लगा रहे हो तब आप अपने अंतरमन पर जरूर फोकस करे जिससे आपके मस्तिष्क पर अच्छा प्रभाव पड़ता है ।

योग निद्रा के लाभ कौन कौन से है ?  Benefits of yoga Nidra in Hindi:-

आज कल की दुनिया में हर कोई किसी न किसी समस्या को लेकर परेशान है।  आपको रोजाना तनाव जैसी स्थिति से गुजरना पड़ता होगा।  इस वजह से आप दूसरी बीमारियों के चपेट में आने लगते है। 

Benefits of Yoga Nidra in Hindi
Yoga Nidra in Hindi

इन सभी बीमारियों से बचने हेतु Yog Nidra in Hindi  हमारे पास विकल्प है।  जिससे हम अपने असंतुलित मन को संतुलित रूप दे सकते है । योग निद्रा के कई सारे फायदे है जिन्हे हम पढ़ेंगे ……

  1. योग निद्रा से आपके मस्तिष पर अच्छा प्रभाव पड़ता है ।
  2. जब आप कही से थक कर आते है या आपके शरीर में तापमान है तो आप योग निद्रा की सहायता से ऐसे संतुलित कर सकते है ।
  3. साथ ही विभिन योगो से प्राप्त ऊर्जा का सही प्रयोग करके उसे नियंत्रित रूप से तंत्रिका तंत्र को सुचारु रूप से चलाया जा सकता है ।
  4. Yoga Nidra in Hindi  करने से आपके मन की एकाग्रता में वृद्धि होती है । एवं आपके विचलित मन को एक नई दिशा मिलती है।
  5. इसकी सहायता से आप अपने मस्तिष्क की थकान दूर करके  अपने मस्तिष्क को तनाव मुक्त बना सकते है ।
  6. हमारे शरीर का तंत्रिका तंत्र मजबूत होने से हमारे अन्य अंगो की कार्यक्षमता में सुधार आता है।

योग निद्रा कैसे करे? Yoga Nidra Kaise Karen:-

अगर सामान्य रूप से नजर डाली जाये तो सबसे आसानी विधि ऐसे को कह सकते है साथ ही ये सबसे कठिन विधि भी है।  इसका कारण यहाँ की जब आप Yoga Nidra in Hindi  को करते है तो आपको सबसे पहले अपने मन को शांत करने की आवश्यकता होती है। 

एवं अपने आसपास के वातावरण को ऐसा बनाये रखना होता है की आपको कोई भी डिसट्रब नहीं कर सके।  जिससे आपके ध्यान करने में अधिक एकाग्रता बनी रहेगी।  तो आईये जानते है Yoga Nidra in Hindi  कैसे करे के बारे में ..

Yoga Nidra Kaise Karen
  1. सर्वप्रथम एक ऐसे क्षेत्र का चुनाव करे जहा पर आपको कोई भी डिस्टरबेंस नहीं हो एवं आप एकाग्रह मन से ध्यान कर सके। 
  2. फिर अपने पीठ के बल लेट जाये एवं अपने हाथो को बिलकुल सीधा रखे . ध्यान रहे की आपके पेरो के मध्य 1 मीटर कम से कम दुरी बनी रहे एवं आपस में किसी भी प्रकार का कोई कोर्स नहीं हो .
  3. अब आप अपने शरीर के सभी अंगो को धीरे धीरे ढीला छोड़ना चूरू करे . अपने अंगुलियों, हाथो, जोड़ो एवं अन्य अंगो को हलके हलके हिला कर ढीला छोड़ दे . 
  4. अभी अपने ध्यान को हाथ की अंगुलियों पर ले आये एवं  मंद मंद उन्हें हिला कर ढीला छोड़ दे . अपने कोहनियो , हाथो के जोड़ो , फिर धीरे धीरे कंधे , गर्दन आदि को थोड़ा सा हिला कर ढीला छोड़ दे जिससे आपके सभी अंग शांत अवस्था में चले जायेंगे .
  5. Yoga Nidra in Hindi  – अभी आप अपने पेट , कमर , कंधे एवं मस्तिष्क के साथ साथ शरीर के हर हिस्से में अपने ध्यान को घुमाये . इससे आपका शरीर बहुत ही शिथिर हो जायेगा . एवं आप बहुत आराम दायक स्थिति में चले जायेंगे
  6. अब आप बहुत धीरे धीरे लम्बी सांसे ले एवं धीरे धीरे उन्हें बाहर की और छोड़े , एक बात का हमेशा ध्यान रखे की आपका ध्यान आपके पेट तक जाये एवं आपकी साँस पूरी गहराई तक हो .
  7. आप यह कल्पना करे की आसमान से एक सितारा टूट कर आपके पास आ रहा है एवं आपके पेरो के तलवे के निचे उसे महसूस करे . जिससे आपके शरीर का तापमान संतुलित होता है . ‘
  8. यह कल्पना करे की वो सितारा आपके तलवे के माध्यम से आपके शरीर में प्रवेश कर रहा है . उसे धीरे धीरे ऊपर की और खींचता हुआ महसूस करे . एवं एक पैर से दूसरे पैर तथा दूसरे पैर से पहले पैर में संचालित हो रहा हो .
  9. जैसा की आपने महसूस किया की वह सितारा आपके पेरो में चल रहा था अभी आप उसे अपने शरीर के हर अंग में ले जाये किडनी , हाथ , पेट , मुँह , मस्तिष्क , कंधे , कोहनियो आदि में उसे घुमाये . इससे आपकी एकाग्रता में काफी बदलाव आता है .
  10. अभी अपने शरीर में हो रही हर हलचल को महसूस करे एवं आपके शरीर के प्रत्येक अंग को वह सितारा महसूस होता हो  . (नोट – यह मात्र कल्पना है )

योग निद्रा व ध्यान में अंतर (Difference Between Yoga Nidra and Meditation):-

योग निद्रा आराम से लेट करना किया जाने वाला योग है योग निद्रा कहलाता है । जबकि ध्यान सुखासन में बैठ कर किया जाता है ।

FAQ Related to Yoga Nidra:-

Q. I feel unbearable physical pain while in Yoga Nidra but when I wake up it all disappears why?

Ans. यह आरम्भ में होता है लेकिन धीरे धीरे सही तरीके से अभ्यास करने से यह पूरी तरह खतम हो जाता है । शुरुआत में जहां Blockage होते हैं वहाँ दर्द होना लाज़मी है । लेकिन लगातार अभ्यास से यह ठीक हो जाता है ।

Q. Does it sound comes out from throat during Yoga Nidra?

Ans. No, नहीं यह जरूरी नहीं है कि योग निद्रा करते समय गले से आवाज आए । यह एक बीमारी भी हो सकती है । लेकिन लगातार सही मार्गदर्शन में योग निद्रा करने से यह ठीक हो सकता है । ऐसी में अपने योगा टीचर से भी सलाह लेनी चाहिए ।

Q. योग निद्रा कुंडलिनी जागृति के किस अंग का भाग है ?

Ans. योग निद्रा कुंडलिनी जागृति के ध्यान व चेतना जागरण अंग का भाग है। इसके लगातार सही अभ्यास से चेतना जाग्रत होती है और ध्यान की गहराई अधिक होती है ।

Q. योग निद्रा के नुकसान ?

Ans. वैसे तो योग निद्रा के कोई भी नुकसान नहीं है । लेकिन यदि इसको सही तरीके से व बिना किसी योग्य टीचर के मार्गदर्शन से किया जाए तो कुछ नुकसान हो सकता है ।

Q. योग निद्रा साइड इफेक्ट्स ?

Ans. योग निद्रा का कोई भी साइड इफैक्टस नहीं है । प्रारम्भ में शरीर में हल्का दर्द महसूस हो सकता है जोकि धीरे धीरे अभ्यास से ठीक हो जाता है । बस जरूरत है एक अच्छे मार्गदर्शक की ।

Q. योग निद्रा के कितने भाग हैं?

Ans. योग निद्रा के दो भाग है :-1) Affirmation के साथ योग निद्रा करना 2 )बिना Affirmation के योग निद्रा करना

Final Word For Yoga Nidra:-

इस Article के माध्यम से आज हम लोगों ने योग निद्रा के बारे में चर्चा की और आप लोगों को यह बताने का प्रयास किया कि योग निद्रा और मेडिटेशन में क्या फर्क होता है । Article के माध्यम से आज हम लोगों ने आपको योगनिद्रा के छह ऐसे Benefits के बारे में बताने का प्रयास किया जिसकी मदद से आप योग निद्रा के प्रति अपनी रुचि को बढ़ा सकते हैं। हम आशा करते हैं कि आपको हमारा यह आर्टिक्ल Yoga Nidra in Hindi योग निद्रा हिन्दी में पसंद आया होगा और इससे आपको ज्यादा से ज्यादा लाभ होगा ।

Leave a Comment