Atma Ka Dhyan Karne Ki Vidhi Kya Hai with 3 easy steps

आत्मा का ध्यान या फिर सोल Meditation के बारे में बहुत लोग अच्छे तरीके से नहीं जानते Atma Ka Dhyan Karne Ki Vidhi Kya hai इस बारे में बहुत लोग चर्चा तो करते हैं पर वह समझने और समझाने में सक्षम नहीं हो पाते। तो इसी वजह से आज हम आत्मा का ध्यान करने की विधि लेकर आए हैं ।

आप लोगों के लिए और आज हम आप लोगों के आत्मा के ध्यान से जुड़े हुए सारे प्रश्नों का जवाब देंगे इस आर्टिकल की मदद से तो आज हम बात करेंगे आत्मा का ध्यान कैसे करें (Atma Ka Dhyan Karne Ki Vidhi Kya Hai)। अध्यात्मिकता में विश्वास रखने वालों के लिए यह आर्टिक्ल बहुत ही महत्वपूर्ण होना वाला है । इसलिए इसे बहुत ही ध्यान से पढ़ें ।

Atma Ka Dhyan Karne Ki Vidhi Kya Hai
Atma Ka Dhyan Karne Ki Vidhi Kya Hai

किसी ना किसी वजह से विश्व में कई सारे व्यक्ति ऐसे हैं जो मानसिक तनाव का सामना कर रहे हैं तनाव के कारण दैनिक कार्यों को करने का भी मन नहीं करता है ।

Important Points Related to -Atma Ka Dhyan Karne Ki Vidhi Kya Hai:-

मन शांत और एकाग्रता को बढ़ाने के लिए रोजाना सुबह 20 से 30 मिनट ध्यान अवश्य रूप से करना चाहिए ।

Our Recent Articles:-

  1. Easy way of Meditation
  2. Easy way of Kundalini Jagran

ध्यान करने से नकारात्मक विचार दूर होते हैं और सकारात्मक विचारों का आगमन शुरू होता है ।

मेडिटेशन करने का सबसे अच्छा समय सुबह का ही माना गया है लेकिन अगर आप सुबह ध्यान नहीं कर पाते हैं तो आप दिन में किसी भी शांत स्थान पर बैठकर ध्यान कर सकते हैं ।

आत्मा का ज्ञान प्राप्त करने के लिए सबसे पहले आपके लिए यह जान लेना आवश्यक होगा कि हम चेतना के सभी स्तरों की छानबीन करें और उन पर दृष्टि डालें ।

इसमें चेतन मन, अवचेतन मन और अचेतनमन सम्मिलित है चेतना के इन स्थलों की संतुष्टि पूरी तरह से प्रदर्शित और विशुद्ध होनी चाहिए ।

Important Points Related to -Atma Ka Dhyan Karne Ki Vidhi Kya Hai
Atma Ka Dhyan Karne Ki Vidhi

यह सिर्फ तभी हो सकता है जब हम इसको पूरी जागरूकता के साथ ध्यान के माध्यम से करें । तब सर्वोच्च चेतना के द्वार खुलेंगे और दिव्य आत्मा के दर्शन होंगे

हर व्यक्ति का मानना है कि वह अपने आप को भली भांति जानता है लेकिन क्या आपने कभी स्वयं में झांक कर देखा है । अगर आप झांकते है तो आपको ऐसी बहुत सारी बातें मिलेंगी जिन्हें आप नहीं जानते होंगे ।

आत्मा का ध्यान करने की विधि (Atma Ka Dhyan Karne Ki Vidhi): –

(1) ध्यान करने के लिए एक ऐसे स्थान का चयन करें जो साफ सुथरा हो और शांत हो ।

(2) जिस स्थान को आप मेडिटेशन के लिए सुनिश्चित करेंगे उस स्थान पर आप मोमबत्ती या फिर कोई दीप जला ले जिससे मोमबत्ती से निकलने वाला पीला प्रकाश आपके मस्तिष्क को काफी आराम देगा ।

(3) मेडिटेशन करने के लिए एक ऐसा समय चुनिए जो आपके दैनिक कार्यों से दूर हो ध्यान करने के लिए सुबह या शाम का समय बहुत ही अच्छा माना गया है क्योंकि इस वक्त दिन के मुकाबले शांति अधिक होती है ।

You Must Watch Our Recent Video:-

Meditation is Part of Life

What precautions will you take while practising meditation:-

मेडिटेशन करने से पहले कौन कौन सी सावधानियां रखनी है: –

ध्यान करते समय आपको किसी भी तरह के विचार अपने मन में नहीं लाने हैं जिसके लिए आप ध्यान करने से पहले एक्सरसाइज कर सकते हैं जिससे आपका मन बिल्कुल शांत हो जाएगा ।

क्योंकि अगर विचार का प्रवाह जारी रहेगा तो आप ध्यान नहीं कर पाएंगे शुरुआत में विचारों पर कंट्रोल पाना थोड़ा कठिन होगा ।

लेकिन जैसे-जैसे आप अभ्यास करते जाएंगे आपकी आदत सी बन जाएगी और आप ध्यान बहुत ही शांत मन से कर पाएंगे ।

ध्यान शारीरिक तथा मानसिक स्वास्थ्य के लिए निशुल्क है । जब भी एकाग्र मन से किसी भी विषय के बारे में सोचा जाए तो वह शीघ्र फलित होने लगता है खास तौर पर स्वयं के व्यवहार, स्वभाव एवं आदतों को बदलने की दिशा में ।

मेडिटेशन एक ऐसी प्रक्रिया है जिसका संबंध शरीर मस्तिष्क तथा आत्मा तीनों से होता है अथार्त तीनों के सामंजस्य से यह क्रिया संपन्न होती है ।

FAQ Related To Atma ka Dhyan Karne ki Vidhi Kya Hai

How do you connect with your soul to Meditate ? ( कैसे आप अपने soul से connect हो सकते हैं meditate करने के लिए ?)

जब भी आप नियमित रूप से meditation किया करते हैं तो आपके अपनी आत्मा यानी soul से ज्यादा connectivity हो जाती है आप अपने आप को पहले से बेहतर तरीके से समझने लगते हैं । अपनी आत्मा से आपका मेलजोल बढ़ जाता है आप अपनी आत्मा से बात करने लगते हैं और वह भी आपको सही और गलत के बारे में बताने लगती है तो यही तरीका होता है ध्यान करते वक्त अपने बारे में अपने आप को Analyze करना जिसकी मदद से आप अपने आप को अपने soul से connect कर सकते हैं।

Why is Meditation Good For the soul?( Meditation soul के लिए अच्छी क्यूं होती है?)

जैसा कि हम सभी जानते हैं कि यदि हमारे शरीर पर कोई भी चोट लगा करती है तो उसकी मरहम पट्टी हम किया करते हैं । उसी प्रकार से यदि हमारे soul पर मतलब हमारी आत्मा पर किसी प्रकार का कोई चोट या जख्म होता है तो उसका मरहम dhyanही है । dhyan soul के लिए इसीलिए भी अच्छी हुआ करती है कि वह हमारे आत्मा को शांति पहुंचाया करती है और जिसकी मदद से हम अपनी आत्मा को स्वच्छ और साफ बना सकते हैं इसीलिए meditation आत्मा के लिए अच्छी हुआ करती है।

How Do I keep my soul happy? ( मैं कैसे अपनी आत्मा को खुश रख सकता हूं?)

अपने soul को खुश रखने के बाद सारे तरीके हुआ करते हैं जिनमें से कुछ हम साझा कर रहे हैं ।
पहला तो सबसे पहले आपको अपने आप से प्यार करना बहुत जरूरी है और उसी के साथ-साथ आपको दूसरों के प्रति लगाव होना भी बहुत जरूरी हमेशा आपको को Positive रहना चाहिए।
Negative खायालो और Negative लोगों से तो बहुत दूरी बना लेने में ही आपका फायदा है जितना आप ज्यादा काम करेंगे उतना ज्यादा ही आपकी आत्मा को शांति मिलेगी । पर उसी के साथ-साथ आपको उतना ही उदार और कोमल रहना भी बहुत जरूरी है यह सारी चीजें आपकी आत्मा को खुश करती है।

Final words for Atma Ka Dhyan Karne Ki Vidhi Kya Hai:-

इस Article की मदद से आज हम लोगों ने आत्मा का ध्यान करने की विधि के बारे में चर्चा की और हमने जाना कि कैसे आप soul dhyan को कर सकते हैं और 3 steps में आपको यह बताया कि आत्मा का ध्यान करने की विधि क्या है उसी के साथ साथ हमने इस meditation से जुड़ी सावधानियों को भी आपके साथ में साझा किया। आत्मा का ध्यान करने की विधि (Atma Ka Dhyan Karne Ki Vidhi) और भी है जिनमे से कुछ मैंने आपको बताई है । आशा करता हूँ कि आप मेरे द्वारा दी गयी जानकारी का प्रयोग अपने जीवन को बदलने में करेंगे ।

Leave a Comment