3 Best Way to Heal Karmas With Reiki in Hindi

Heal Karmas With Reiki:-

आज हम पूरी जानकारी लेंगे (3 Best Way to Heal Karmas With Reiki in Hindi) रेकी के साथ कर्मों को ठीक करने का 3 सबसे अच्छे तरीकों के बारे में ।

हम सभी को अपने भूत व भविष्य की चिंता हमेशा बनी रहती है । कैसे हम इस चिंता से बाहर आ सकते है । केवल हम अपने भूत व भविष्य को हील करके ही हम इस चिंता से छुटकारा पा सकते हैं । आओ जानते हैं । 

Reiki Healing For Past Or Future:-

आओ विस्तार से जाने कि किस प्रकार हम अपने भूत व भविष्य को रेकी से हील करेंगे । 

Past Karmas Heal With Reiki (भूतकाल में रेकी भेजना):- 

यदि भूतकाल मे कोई ऐसी अप्रिय घटना घट गई हो जिसकी वहज से बार-2 परेशानी उठानी पड़ रही हो या ऐसी भूतकाल की घटना बार-2 मस्तिष्क में आकर मानसिक रूप से परेशान करती हो

या फिर ऐसी कोई भूतकाल की घटना बार-2 सपनों में आकर परेशान करती हो, तब भूतकाल में रेकी भेजनी चाहिए।

Heal Karmas with reiki
Heal Karmas with reiki

Process to Heal Past Karmas With Reiki:-

इस विधि (Heal Karmas with reiki) को करने के लिए शांत चित आंखें बन्द कर सुखासन में बैठें। पहले स्वयं को चार्ज करें फिर भूतकाल मे रेकी भेजने के लिए रेकी शक्ति का आवाहन करें।

मै अपने भूतकाल की अमुक अप्रिय घटना को हील करने के लिए रेकी शक्ति का आवाहन करता/करती हूँ। हे रेकी शक्ति मेरे अन्दर प्रवाहित हो-3 । फिर प्रतीक 3 लगाकर स्वयं को उस घटना से जोड़ें। 

Use Reiki Symbols:-

                फिर प्रतीक 1 2 1 क्रमलगाएं और उस धटना को हील करें और मन ही मन उस घटना को ऐसे होते हुए देखें जैसा आप उसे घटित होते देखना चाहते थे। 15-30 मिनट तक रेकी हीलिग करें।

फिर अन्त में प्रतीक 1 लगाकर रेकी को स्थापित करें और बोले- स्थापित-3 लगातार रेकी उपचार के लिए मै रेकी शक्ति को स्थापित करता/करती हॅूं। ऐसा लगातार 21 दिन तक करें। रेकी हीलिंग का समय यथा सम्भव एक ही रखें। इस उपचार को लगातार 3 माह तक भी कर सकते हैं। 

Related video:-

How to remove your past karmas with Reiki Healing?

                ऐसा करने से आपको बहुत गहरी शांति का अनुभव करेंगे। इस रेकी हीलिंग को प्रत्येक भूतकाल की अप्रिय घटना के लिए किया जा सकता है। एक समय में एक ही घटना की हीलिंग करें।

दूसरों के भूतकाल की अप्रिय घटना को भी हिल किया जा सकता है। इस प्रक्रिया को भूतकाल की अज्ञात अप्रिय घटना के लिए भी किया जा सकता है। स्वयं या दूसरों के लिए भी किया जा सकता है। 

                जब हम अज्ञात अप्रिय घटना को हील करेंगे तो मन ही मन रेकी शक्ति से प्रार्थना करेंगे कि जो भी मेरे भूतकाल में अज्ञात अप्रिय घटना घटी है उसको हील करो-3

ये भूतकाल की ऐसी अप्रिय घटना होती है जिनकी वजह से हमें वर्तमान समय में रोग, दुःख, असफलता या लगातार बीमारी का सामना करना पड़ता है और हम समझ नही पातेे। इस प्रकार की घटनाओ का असर हमारे भविष्यकाल पर भी पड़ सकता है।

इस हीलिंग द्वारा आप न केवल अपने वर्तमान को सुधारेंगे अपितु अपने भविष्य को भी सुधारें। इस हीलिंग के होने के बाद आपको अपने कार्यो में सफलता मिलेगी, मानसिक शांति मिलेगी, बीमारी से छुटकारा मिलेगा, आपकी प्रगति होगी है। यह एक बहुत ही शक्तिशाली रेकी उपचार है।

Future Karmas Heal With Reiki:-

 भविष्य में ऐसे कार्याो के लिए रेकी भेजी जाती है जो अभी होने हैं जैसे- परीक्षा, इन्ट्रव्यू, डिलीवरी या कोई ऑप्रेशन आदि के लिए। जब परीक्षा या इन्ट्रव्यू नजदीक होता है तो उससे डर लगने लगता है।

पता नही मै परीक्षा में अच्छे अंक ला पाउंगा/पांउगी या नहीं। इस कारण याद किया हुआ भी भूल जाते हैं। यही इन्ट्रव्यू में भी होता है। जो याद भी होता है वह भी भूल जाते हैं। 

                    एक तरह का फोबिया हो जाता है। ऐसी अवस्था में भविष्य में रेकी भेजी जाती है। ताकि तब परीक्षा या इन्ट्रव्यू हो तो हम डरे नही, घबराएँ नही।

रेकी शक्ति उस समय हमें सन्तुलन में रखें, शक्ति दें। जो पढ़ा है वह याद रहे इत्यादि। मन का फोबिया दूर हो जाए। लगभग ऐसी ही स्थिति डिलीवरी या ऑप्रेशन के समय भी होती है।

अक्सर स्त्रियों में डिलीवरी का फोबिया हो जाता है और जिस व्यक्ति का आप्रेशन होना हो उसे बिना किसी कारण डर लगा रहता है। ऐसी सभी स्थितियों के लिए भविष्य में रेकी भेजनी चाहिए।

Full Process to Heal Karmas With Reiki:-

शांत चित ऑंखें बन्द कर बैठे। पहले स्वयं को चार्ज, हील और सुरक्षित करें। फिर भविष्य काल में रेकी शक्ति भेजने के लिए रेकी शक्ति का आवाहन करें।

मै भविष्य में अमुक घटना परीक्षा, इन्टूव्यू, डिलीवरी, आप्रेशन इत्यादि को हील करने के लिए रेकी शक्ति का आवाहन करता/करती हूँ।

हे रेकी शक्ति मेरे अन्दर प्रवाहित हो-3 फिर प्रतीक 3 से भविष्यकाल की उस घटना से स्वयं को जोड़ें। प्रतीक 1,2,1 लगाकर 15-30 मिनट तक लगातार हीलिंग करें और मन ही मन उस घटना को बहुत अच्छा होते हुए देंखें। उसके परिणाम के बाद तक देखें और देखें कि सभी खुश हैं। फिर सबका धन्यवाद करें।

Note:-

 आप्रेशन, डिलीवरी, परीक्षा या इन्ट्रव्यू की तिथि, समय व स्थान का विवरण पहले से ही ले लेना चाहिए। आप्रेशन व डिलीवरी में जहॉं शारीरिक रेकी की जाती है वहीं मानसिक रेकी उपचार भी करना चाहिए।

Our Related Article:-

  1. Crystal Healing
  2. How Reiki Healing Techniques Works in Hindi

Final Words For 3 Best Way to Heal Karmas With Reiki in Hindi:-

मैं आशा करता हूँ कि आपको हमारा यह आर्टिक्ल (3 Best Way to Heal Karmas With Reiki in Hindi) रेकी के साथ कर्मों को ठीक करने का 3 सबसे अच्छे तरीके आपको पसंद आया होगा । अधिक जानकारी ले लिए हमे मैसेज भी भेज सकते हैं ।

Leave a Comment