How Reiki Healing Works in Hindi – Reiki Kaise Kam Karti Hai in 2 easy steps

इस आर्टिक्ल ‘How Reiki Healing Works in Hindi’ में मैंने बताया है कि रेकी कैसे काम करती है । इसमे मैंने रेकी के पीछे का पूरा विज्ञान बताया है । मैं कुद एक Reiki Grand Master हूँ । मेरा अपना रेकी का वर्षों का अनुभव है । मैंने इस आर्टिक्ल How Reiki Healing Works in Hindi में जो भी बताया है अपने अनुभव के आधार पर बताया है । आशा करता हूँ कि आप सभी को यह पसंद आया होगा ।

How Reiki Healing Works in Hindi - Reiki Kaise Kam Karti Hai in 2 easy steps

रेकी कैसे Healing करती है ?(How Reiki Healing Works in Hindi?)

 रेकी एक शक्तिशाली उपचार विधि है जिससे शारीरिक स्तर, मानसिक स्तर, भावनात्मक स्तर, आभामण्डल के स्तर पर उपचार होता है। जब हम रेकी शक्ति का आवहा्न करते हैं तो रेकी शक्ति हमारे सह्सार चक्र से होकर शरीर में प्रवेश करती है

और जब हम उपचार करते है तो रेकी शक्ति सह्सार चक्र से होती हुई आज्ञाचक्र पर विशुद्ध चक्र, अनाहद चक्र से होती हुई दोनो हाथों में प्रवाहित होती है। रेकी ऊर्जा हथेलियों से होती हुई शरीर में प्रवेश करती है।      

रेकी का प्रवाह जब तक बना ही रहता है तब तक शरीर को रेकी उर्जा की अवष्यकता होती है। फिर रेकी ऊर्जा स्वतः ही बहनी बन्द हो जाती है। उपचार करते समय आप चाहे शरीर के किसी भी अंग पर रेकी करें। रेकी स्वंय ऐसा स्थान पर चली जाएगी जहाँ रेकी की आवष्यकता होती है। जब रेकी का अभ्यास हो जाता है  

तब मात्र हाथ रखते ही रेकी शक्ति बहनी प्रारम्भ हो जाती है और उपचार के बाद या जितनी रेकी ऊर्जा की अवश्यकता होती है   उतनी जाने के बाद रेकी स्वतः ही बन्द हो जाती है। रेकी से स्वयं को व सभी/मरीज जिसे आप रेकी दे रहे हैं दोनों को ही लाभ होता है।   

How Reiki Healing Works in Hindi
How Reiki Healing Works in Hindi

 उदाहरण से समझे-

आप घर में एक पाइप लेकर पौधों में पानी दे रहें। जब आपने पौधों में पानी दे दिया और नल बन्द कर दिया। पाइप को ध्यान से देखें।  पौधों में पानी देने के उपरान्त पाइप में भी कुछ पानी षेश रह जाता है। ठीक उसी प्रकार रेकी शक्ति कार्य करती है।          

जब आपने साथी/मरीज को रेकी दी तब रेकी उपचार बन्द होने के बाद कुछ रेकी ऊर्जा आपके अन्दर भी रह जाती है। जिससे आपको भी फायदा होता है। दूसरी एक बात और समझे रेकी देने वाला, रेकी उपचारक/रेकी हीलरद्ध सिर्फ एक माध्यम होता है।  

वह पानी की तरह। जैसे पानी टैंकी मे होता है वह पानी के माध्यम से पौधों में जाता है। यहाँ पाइप एक माध्यम है हम यह नही कह सकते कि पानी पाईप का है अर्थात् पाईप ने स्वयं को पानी दिया है। यह पानी टैंकी से आता है।   

Popular Posts:-

1. Reiki Symbol In Black Magic

2. Reiki se Relation kaise thik Karen               

ठीक उसी प्रकार रेकी उपचार करते समय रेकी ब्रह्मांड से हमारे अन्दर आती है और हमारे शरीर से होती हुई मरीज/साथी के अन्दर प्रवेश कर जाती है हम यहनही कह सकते कि मैने उपचार किया है।   

अपितु कहेगे कि रेकी शक्ति न उपचार किया है। रेकी उपचार के दौरान हम एक माध्यम की तरह थे।   इसलिए रेकी उपचार के लिए कभी भी अहंकार न करें। सदैव कहं रेकी शक्ति ने आप को ठीक किया है। इस प्रकार आपके अन्दर अहंकार निर्मित नही होगा।  

रेकी में मन की भावना का भी बहुत महत्व होता है। बिना मन की भावना के रेकी ठीक प्रकार से कार्य नहीं करती।                

मन की भावना से हम रेकी शक्ति को दिषा देते हैं। एक उदाहरण से समझे। बिजली के तारों में बिजली उर्जा बह तो रही है जब तक उसको दिशा न दे तो उसका क्या महत्व है।   बिजली का हम प्रयोग नही कर पाऐंगे। आप बिजली को दिषा दे दो।

एक बल्ब के तारों को उससे जोड़ दें तो बल्ब जलेगा, रोशनी देगा, उजाला करेगा, अन्धकार को दूर करेगा।   आपने बिजली ऊर्जा को दिशा दे दी। दूसरे शब्दों में कहें तो बिजली को बता दिया कि आपको बल्ब जगाना है।  

बिजली उर्जा का सदुप्रयोग हुआ। ठीक इसी प्रकार बिजली ऊर्जा को दिशा देकर आप अनेक उपकरणों को चला सकते हैं। जैसे पंखा, कुलर, फ्रीज, टी.वी. आदि।                

जब तक बिजली तारों में बहती है तब तक उसका कोई प्रयोग न था। दिशा देने पर बिजली ने हमारे जीवन को सरल व आरामदायक कर दिया।   यही कार्य रेकी शक्ति के साथ करना है। रेकी उपचार के समय रेकी शक्ति को मन व विचारों से सही दिशा देनी है।   जैसे- रेकी शक्ति घुटने के दर्द को ठीक करो-3, सिर दर्द को ठीक करो-3, तो रेकी ऊर्जा उसी कार्य मे लग जाती है।  

रेकी उपचार के समय रेकी उपचारक के मन में चल रहे विचार भी मरीज को प्रभावित करते हैं। रेकी उपचार करते समय सदैव सकारात्मक विचार ही रखने चाहिए। जैसे- रेकी से आपका मंगल हो, कल्याण हो, रेकी आपको सदैव सुखी रखे।

रेकी से परिणाम मिलने में कितना समय लगता है ? 

How Reiki Healing Works in Hindi - Reiki Kaise Kam Karti Hai in 2 easy steps

 रेकी को पूरे मन से करना चाहिए । Reiki Healing से परिणाम प्राप्त करने के लिए कम से कम 21 दिन से 3 महीने तक लगातार रेकी करनी चाहिए ।   बहुत से लोग रेकी करना छोड़ देते हैं क्योंकि वो लोग रेकी को एक जादू की तरह मानते हैं । रेकी कोई जादू नहीं है । यदि रेकी को लगातार 21 दिन से 3 महीने तक किया जाए तो परिणाम अवश्य मिलते हैं ।   

Recent Posts:-

1. Mind Set When We Do Reiki

2. Reiki Attunement

Faq related To Final words for How Reiki Healing Works in Hindi – Reiki Kaise Kam Karti Hai in 2 easy steps

How many Reiki Sessiona are recommended?(कितने Reiki Sessions Recommened hote hai?)

Traditionally ऐसा कहां जाता है कि आप लोगों को 4 सेशन करने चाहिए । फिर उसके बाद आप लोगों को स्वयं ही यह Evaluate करना होता है कि आप इस से क्या-क्या फायदे पा रहे हैं। फिर वह अपने गुरु से Discuss करके Session को bकर सकते हैं।

What should I feel during Reiki?(मुझे रेकी करते वक्त क्या महसूस होगा?)

विकी करते वक्त आप लोगों को अपने शरीर में एक अलग तरह की सेंसेशन महसूस होती है और आपको दुख शरीर में गर्मी और गुदगुदी सी महसूस होने लगती है।

Can I learn Reiki on my own?(क्या मैं रेकी खुद ही सीख सकता हूं?)

जी हां रिकी को आराम से घर पर सीखा जा सकता है और इसके लिए आपको लगन से दिन प्रतिदिन Practice करनी होनी बहुत जरूरी है और जिससे इस चीज की Knowledge हो उनसे आप कभी कबार Guidance लेकर यह अपने आप सीख सकते हैं । सिर्फ और सिर्फ Practice और नियमित रूप से करने पर।

Final words for How Reiki Healing Works in Hindi – Reiki Kaise Kam Karti Hai in 2 easy steps

हम आशा करते हैं कि आपको हमारा यह आर्टिक्ल ‘How Reiki Healing Works in Hindi’ पसंद आया होगा ।

जब तक बिजली तारों में बहती है तब तक उसका कोई प्रयोग न था। दिशा देने पर बिजली ने हमारे जीवन को सरल व आरामदायक कर दिया।   यही कार्य रेकी शक्ति के साथ करना है। रेकी उपचार के समय रेकी शक्ति को मन व विचारों से सही दिशा देनी है।   जैसे- रेकी शक्ति घुटने के दर्द को ठीक करो-3, सिर दर्द को ठीक करो-3, तो रेकी ऊर्जा उसी कार्य मे लग जाती है।

जब तक बिजली तारों में बहती है तब तक उसका कोई प्रयोग न था। दिशा देने पर बिजली ने हमारे जीवन को सरल व आरामदायक कर दिया।   यही कार्य रेकी शक्ति के साथ करना है। रेकी उपचार के समय रेकी शक्ति को मन व विचारों से सही दिशा देनी है।   जैसे- रेकी शक्ति घुटने के दर्द को ठीक करो-3, सिर दर्द को ठीक करो-3, तो रेकी ऊर्जा उसी कार्य मे लग जाती है।

Leave a Comment